Top

होली पर सभी को तोहफा: इतना सस्ता तेल, अब टेंशन फ्री होगा फेस्टिवल

दुनिया भर में कोरोना वायरस अपने पैर फैला रहा है। 3000 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है और कई हज़ार लोग इससे संक्रमित है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 4 March 2020 5:53 AM GMT

होली पर सभी को तोहफा: इतना सस्ता तेल, अब टेंशन फ्री होगा फेस्टिवल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: दुनिया भर में कोरोना वायरस अपने पैर फैला रहा है। 3000 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है और कई हज़ार लोग इससे संक्रमित है। इस वायरस की वजह से दुनियाभर में खाद्य तेल की कीमतों में गिरावट आने वाली है। अच्छी बात ये है कि खाने के तेल के दाम अगले हफ्ते से 10 पर्सेंट तक घट सकते हैं। ऐसा मानना इंडस्ट्री के एक्सपर्ट्स का है। वैश्विक कीमतों का भारतीय बाजार पर बड़ा असर पड़ता है क्योंकि देश में सालाना यूज़ किए जाने वाले 235 लाख टन खाद्य तेल के लगभग 70 पर्सेंट हिस्से का आयात होता है।

ये भी पढ़ें:दिल्ली हिंसा Live: फैसले का दिन आज, आरोपियों समेत इन नेताओं पर होगी सुनवाई

अडानी विल्मर के डिप्टी चीफ एग्जिक्यूटिव ने कहा अग्रेज़ी साईट ET को बताया कि चीन खाद्य तेल के बड़े कन्ज्यूमर्स में से एक है। वहां मांग घटने की वजह से वैश्विक बाजारों के साथ ही घरेलू बाजार में भी दाम में कमी आ रही है। इस गिरावट का फायदा कंपनी कन्ज्यूमर्स को भी देना चाहती है। आगामी हफ्ते ब्रांडेड कुकिंग ऑइल के पैकेट पर छपी कीमतों में ये दिख जाएगा।

सोयाबीन तेल की कीमत में आएगी कमी

एक्सपर्ट्स की माने तो कन्ज्यूमर को पाम ऑइल और सोयाबीन तेल के लिए 10 पर्सेंट यानी 8 रुपये प्रति लीटर कम कीमत देनी होगी। वहीं, सरसों के तेल के लिए 7 पर्सेंट यानी 5 रुपये प्रति लीटर कम दाम देना होगा। ब्रैंडेड सोयाबीन और पाम ऑइल के मौजूदा थोक दाम 78 रुपये प्रति लीटर हैं जबकि सरसों के तेल की कीमत 82 रुपये प्रति लीटर है। इसके साथ ही दुनिया के दूसरे हिस्सों में भी कोरोना वायरस के फैलने से कीमतों में आगे 3 रुपये प्रति लीटर की और गिरावट होने की उम्मीद है।

ये भी पढ़ें:अप्रैल से कोर्ट परिसर में बिना इसके वकीलों के प्रवेश पर लगी रोक, जानिए पूरा मामला

10% से ज्यादा सस्ते होंगे सरसों और राइस ब्रान तेल

पिछले दो महीनों में सरसों के तेल की कीमतें 13 पर्सेंट तक और राइस ब्रान के दाम 20 पर्सेंट तक नीचे आ गए हैं। प्राइसेज के इस स्तर पर आने से मांग बढ़नी चाहिए। कंपनियों को ब्रांडेड तेल की खपत में भी इजाफा होने की उम्मीद है। ऐनालिस्टों का कहना है दुनियाभर में कोरोना की वजह से और इक्विटी मार्केट से कमजोर संकेत मिलने से सोयाबीन तेल और पाम ऑइल की कीमतें घटना जारी रहेंगी। वहीं केडिया अडवाइजरी के डायरेक्टर का कहना है कि मार्च में क्रूड पॉम ऑइल और रिफाइंड सोया तेल के दाम 2-3 पर्सेंट तक कम होने की उम्मीद है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story