राहत पैकेज पर PM की आर्थिक सलाहकार ने खड़े किए सवाल, कही ये बड़ी बात

देश की अर्थव्यवस्था  कोरोना वायरस की वजह से डगमगाने  लगी तो इसको बचाने के लिए सरकार ने मई के दूसरे सप्ताह में 20 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर  पैकेज की घोषणा की थी।  लेकिन इससे हालात में सुधार होंगे ये जरूरी  नहीं है।

Published by suman Published: June 13, 2020 | 8:17 pm

 नई दिल्ली  देश की अर्थव्यवस्था  कोरोना वायरस की वजह से डगमगाने  लगी तो इसको बचाने के लिए सरकार ने मई के दूसरे सप्ताह में 20 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर  पैकेज की घोषणा की थी।  लेकिन इससे हालात में सुधार होंगे ये जरूरी  नहीं है।

प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार आशिमा गोयल ने शनिवार को कहा कि  अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहित करने के लिए मांग को बढ़ावा देने की आवश्यकता है और साथ ही मांग व आपूर्ति में तालमेल भी जरूरी है। कोरोना वायरस संकट से इस पैकेज को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने चरणों में पूरी जानकारी दी, जिसके बाद से ही इसकी आलोचना की जा रही है। अब प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद की सदस्य आशिमा गोयल ने कहा है कि राहत पैकेज में और सुधार की गुंजाइश है।

 

यह पढ़ें…अखिलेश बोले- विदेश नीति के मोर्चे पर सरकार फेल, इस क्षेत्र पर चीन की निगाह

उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को मांग को बढ़ावा देने की जरूरत है। आर्थिक पैकेज हर तरह से पूर्ण नहीं है। पैकेज में खामियां दूर कर इसे बेहतर बनाया जाए। ज्यादातर राहत पैकेज वित्तीय क्षेत्र से जुड़े हैं और ‘अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहित करने के लिए मांग और पूर्ति का तालमेल बहुत जरूरी है।’  सरकार ने मई महीने 20.97 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा किया था, आशिमा गोयल ने कहा कि कोरोना महामारी अर्थव्यवस्था के लिए बड़ा झटका है। उन्होंने कहा कि जब ह्यूमन कैपिटल बरकरार रहता है तो वास्तविक झटके के बाद तेजी से सुधार देखने को मिलता है।

यह पढ़ें…सिर्फ 85 रु में घर: इतना सस्ता हुआ यहां मकान, बला की खूबसूरत जगह

 

2019-20 में अर्थव्यवस्था 4.2 प्रतिशत की दर से बढ़ी, जो पिछले 11 वर्षों में इसकी सबसे धीमी रफ्तार है। तमाम एजेंसियों का मानना है कि चालू वित्त वर्ष यानी 2020-21 में भारत की जीडीपी में संकुचन होगा। अलग-अलग एजेंसियों का अनुमान जीडीपी में 3-5 फीसद तक गिरावट का है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App