RBI के सर्वे ने किया खुलासा: देश के इस शहर में मिलते हैं सबसे सस्ते घर

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के सर्वे के अनुसार, भुवनेश्वर में घर खरीदना जितना आसान है, वो मुंबई में उतना ही मुश्किल है। बता दें कि  RBI ने आवासीय संपत्ति मूल्य निगरानी सर्वे (आरएपीएमएस) किया है।

RBI के सर्वे ने किया खुलासा: देश के इस शहर में मिलते हैं सबसे सस्ते घर

RBI के सर्वे ने किया खुलासा: देश के इस शहर में मिलते हैं सबसे सस्ते घर

नई दिल्ली: भारत में घर खरीदना पिछले चार साल से काफी मुश्किल है। ऐसे में एक सर्वे सामने आया है। ये सर्वे रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की ओर से जारी हुआ है। इसमें कहा गया है कि इन चार सालों में आम आदमी घर नहीं खरीद पाया है। इस रिपोर्ट के अनुसार, सबसे ज्यादा लोग जो घर नहीं खरीद पाए हैं तो वो मुंबई के हैं। मायानगरी में आम लोगों की पहुंच से घर काफी दूर हुए हैं।

यह भी पढ़ें: अब बुआ-बबुआ आए CBI जांच के घेरे में, क्या उपचुनाव में पड़ेगा असर!

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के सर्वे के अनुसार, भुवनेश्वर में घर खरीदना जितना आसान है, वो मुंबई में उतना ही मुश्किल है। बता दें कि  RBI ने आवासीय संपत्ति मूल्य निगरानी सर्वे (आरएपीएमएस) किया है। यह सर्वे RBI ने जुलाई, 2010 से तिमाही आधार पर 13 शहरों में चुनिंदा बैंकों और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों द्वारा दिए गए हाउसिंग लोन के आधार पर किया।

क्या कहता है आवासीय संपत्ति मूल्य निगरानी सर्वे?

आवासीय संपत्ति मूल्य निगरानी सर्वे के अनुसार, मुंबई, पुणे और अहमदाबाद में घर खरीदना अभी भी आम आदमी के लिए किसी सपने से कम नहीं है। इन शहरों में ईटीआई का औसत काफी ऊँचा है। बता दें कि यह सर्वे RBI ने चंडीगढ़, अहमदाबाद, लखनऊ, मुंबई, चेन्नई, दिल्ली, बेंगलुरु, हैदराबाद, कोलकाता, पुणे, जयपुर, भोपाल और भुवनेश्वर में किया था।

यह भी पढ़ें: कर्नाटक: आज शुरू हो रहा विधानसभा सत्र, ‘स्वामी’ पर संकट जारी, SC में होगी सुनवाई

सर्वे करने के दौरान ये बात सामने आई है कि मार्च, 2015 के 3 से मार्च, 2019 के बीच ऋण से आय (एलटीआई) अनुपात 3.4  हो गया है। यह ये बताता है कि लोग घर खरीदने से दूर हो गए हैं। इसके अलावा सर्वे में यह भी कहा गया है कि औसत ऋण से मूल्य (एलटीवी) अनुपात 67.7 से बढ़कर 69.6 प्रतिशत हो गया है। इसका मतलब ये हुआ कि अब बैंक भी ज्यादा जोखिम उठाने लगे हैं।