Top

कहीं 2000-500 के ये नोट नकली तो नहीं, ऐसे करें चेक और बचें धोखेबाजी से

अक्सर लोग नोट असली है या नकली इसकी पहचान नहीं कर पाते हैं। इसी के चलते वो धोखाधड़ी के शिकार हो जाते हैं। लेकिन अगर आप ये पहचान जाएं कि नोट असली है या नकली तो आप कभी धोखाधड़ी के शिकार नहीं होंगे।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 27 Nov 2019 9:19 AM GMT

कहीं 2000-500 के ये नोट नकली तो नहीं, ऐसे करें चेक और बचें धोखेबाजी से
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अक्सर लोग नोट असली है या नकली इसकी पहचान नहीं कर पाते हैं। इसी के चलते वो धोखाधड़ी के शिकार हो जाते हैं। लेकिन अगर आप ये पहचान जाएं कि नोट असली है या नकली तो आप कभी धोखाधड़ी के शिकार नहीं होंगे। जी हां, नोट पर कितने ऐसे निशान हैं जिनकी जांच करने के बाद नोट के असली होने की जानकारी मिल सकती है। अगर आप उन निशानों के बारे में नहीं जानते हैं तो चलिए हम आपको बताते हैं कि आप असली नोट की पहचान कैसे कर सकते हैं।

इन 15 निशानों से कर सकते हैं पहचान

जानकारी के मुताबिक, 2000 और 500 के नोट पर करीब ऐसे 15 निशान होते हैं, जिनकी पहचान से नोट की असलियत का पता लगाया जा सकता है। इन पहचानों में सबसे बड़ी पहचान है ओमरोन एंटी की जो महात्मा गांधी के फोटो के ठीक ऊपर सफेद रंग के गोले के रुप में होता है। अगर कोई नकली नोट या फोटोकॉपी से आपको धोखा देना चाहता है तो उसे पकड़ा जा सकता है।

यह भी पढ़ें: अयोध्या मामले पर अभी पेंच! रिव्यू पिटिशन दायर करेगा मुस्लिम पक्ष

वहीं दृष्टिहीन लोग भी नोटों की असलियत का पता लगा सकते हैं। उनके लिए चिन्ह अशोक स्तंभ से ठीक ऊपर एक पहचान दिए गया है। । नोट के दोनों ही छोर पर दृष्टिहीन लोगों के लिए दो अलग अलग चिन्ह दिए रखे हैं।

इन सभी के अलावा, मूल्यवर्ग अंक की छिपी हुई प्रतिमा, महात्मा गांधी के चित्र में जगह का बदलाव, रंग परिवर्तक सुरक्षा धागा, छोटे से बढ़ते आकार के अंक, रुपये का चिन्ह रंग परिवर्तक स्याही के साथ, अशोक स्तंभ, वाटर मार्क, भारत सरकार की गारंटी, गर्वनर के हस्ताक्षर सहित वचन खंड, मूल्यवर्ग अंक देवनागरी में, की पहचान करके आप नोट की असलियत की पहचान कर सकते हैं।

वहीं नोट के पिछले भाग पर वर्ष, स्वच्छ भारत का लोगो, भाषा पैनल, मूल्यवर्ग अंक देवनागरी में और ओमरोन एंटी निशान भी दिए गए हैं। इन सभी का मिलान करने के बाद आप धोखाधड़ी से बच सकते हैं।

यह भी पढ़ें: थम जाएंगी साँसे! हवा में था प्लेन तभी पायलट को पड़ा दिल का दौरा, फिर हुआ ये…

Shreya

Shreya

Next Story