×

Anil Deshmukh Case: अनिल देशमुख मामले की जांच रिपोर्ट लीक, CBI ने अपने अधिकारी को किया गिरफ्तार

Anil Deshmukh Case: महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के मामले आंतरिक जांच रिपोर्ट को लीक करने के मामले में सीबीआई ने अपने ही अधिकारी की गिरफ्तारी की है।

Network
Updated on: 2021-09-02T12:21:02+05:30
Anil Deshmukh Case
X

महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख और सीबीआई के प्रतीक चिन्ह की तस्वीर  (डिजाइन फोटो:न्यूज़ट्रैक)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Anil Deshmukh Case: महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) के मामले आंतरिक जांच रिपोर्ट को लीक करने के मामले में सीबीआई ने अपने ही अधिकारी की गिरफ्तारी की है। सीबीआई ने सब इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारी अभिषेक तिवारी को गिरफ्तार किया है। मिली जानकारी के मुताबिक अभिषेक तिवारी के उपर आरोप है कि अनिल देशमुख के करीबी लोगों से उन्होंने अवैध तरीके से रिश्वत ली है। जानकारी के मुताबिक इंस्पेक्टर अभिषेक तिवारी पर अनिल देशमुख के वकील आनंद डागा के साथ के संपर्क में रहने का भी आरोप लगा है।

वहीं इसके पहले बुधवार को ही महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख को सीबीआई ने हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। जिसके बाद इस मामले में सीबीआई के सब इंस्पेक्टर अभिषेक तिवारी और नागपुर के एक वकील और कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ रिश्वत लेने के आरोपों में मामला दर्ज किया गया है।

सब इंस्पेक्टर रिश्वत के आरोपों मे गिरफ्तार किया गया

सीबीआई के प्रवक्ता आरसी जोशी ने बताया कि रिश्वत के आरोपों में सब इंस्पेक्टर को गिरफ्तार किया गया है। वहीं वकील से पूछताछ की जा रही है। इसके साथ ही सीबीआई की टीम अभिषेक तिवारी के इलाहाबाद और दिल्ली स्थित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक सीबीआई की टीम वकील को मुबंई में स्थित अनिल देशमुख के आवास से हिरासत में लिया था। यहीं नहीं सीबीआई ने अनिल देशमुख के दामाद गौरव चतुर्वेदी से भी पूछताछ की थी। लेकिन बाद में सीबीआई ने उन्हें छोड़ दिया।

महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख की तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया)


सीबीआई की शुरुआती जांच रिपोर्ट को सोशल मीडिया पर शेयर किया गया

जानकारी के मुताबिक अनिल देश केस में सीबीआई की शुरुआती जांच रिपोर्ट को कई सोशल मीडिया और मैसेंजर प्लेटफॉर्म पर शेयर किया गया था। जिसमें अधिकारियों द्वारा कहा गया था कि अनिल देशमुख के खिलाफ कोई संज्ञेय अपराध नहीं बनाया जा सकता है। इसके साथ ही शुरूआती जांच रिपोर्ट को बंद करने की सिफारिश भी की गई थी। लेकिन सीबीआई ने अनिल देशमुख के खिलाफ और अन्य लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप पर एफआईआर दर्ज की थी।

अनिल देशमुख के वकील इंद्रपाल सिंह ने सीबीआई पर साधा निशान

अनिल देशमुख के वकील इंद्रपाल सिंह ने दामाद से पूछताछ को लेकर सीबीआई पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मुझे बहुत शॉक लगा और ये घटना निंदनीय है। सीबीआई जैसी एजेंसी जिस तरह देशमुख साहब के दामाद को जबदस्ती लेकर गई। इसे कानून का मजाक उड़ाना या कुछ और बोल सकते हैं। ये घटना निंदनीय है,हम इसका विरोध करते हैं।

इंद्रपाल सिंह ने आगे कहा कि सुनने में आया है कि सीबीआई के पास एफआईआर है। और वे वकील आनंद डागा को गिरफ्तार दिखा रहे हैं। उन्होंने कहा हालांकि अभी ये क्लियर नहीं हो पाया है कि ये किस केस में हुआ है। उन्होंने आगे कहा कि हम लोगों को लगा देशमुख के दामाद को किडनैप किया गया है। इसलिए हम पुलिस स्टेशन गए थे।

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story