×

Black Fungus in India: कोरोना संकट के बीच बड़ी आफत, फिर पनप रहा ब्लैक फंगस, ऐसे करें बचाव

Black Fungus in India: देश में कोरोना संक्रमण के खतरे लगातार बढ़ते जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस तीन लाख के करीब नए मामले सामने आए हैं।

Bishwa Maurya

Published By Bishwa MauryaNewstrack Network

Published on 14 Jan 2022 10:10 AM GMT

Black Fungus in India: कोरोना संकट के बीच बड़ी आफत, फिर पनप रहा ब्लैक फंगस, ऐसे करें बचाव
X

Black Fungus 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Black Fungus in India: देश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है। देश के कुछ राज्य इस वक्त कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित है जिनमें महाराष्ट्र, दिल्ली, कर्नाटक पश्चिम बंगाल जैसे राज्य शामिल है। वही कोरोनावायरस संक्रमण के साथ देश के कुछ राज्य ब्लैक फंगस के मामले से भी जूझते नजर आ रहे हैं।

देश में ब्लैक फंगस के मामलों से इस वक्त ज्यादा प्रभावित राज्य गुजरात है। गुजरात के बड़ोदरा शहर में ब्लैक फंगस के मामले में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है। बड़ौदा के एसएसजी अस्पताल की बात करें तो अकेले जनवरी महीने में ही अब तक ब्लैक फंगस के कुल 8 नए मामले सामने आ चुके हैं।

ब्लैक फंगस के मरीज

बताते चलें इस महीने के पहले सप्ताह में ब्लैक फंगस के केवल 3 सक्रिय मामले थे। लेकिन महीने के दूसरे सप्ताह में ब्लैक फंगस के चार और मरीज पाए हैं जिसके बाद कुल मामलों की संख्या आठ तक हो गई है।

बात अगर पिछले महीने की करें तो पिछले महीने देश का छत्तीसगढ़ राज्य भी ब्लैक फंगस के मामलों से काफी जूझता नजर आया था। दिसंबर माह में छत्तीसगढ़ में ब्लैक फंगस के कुल 16 सक्रिय केस मौजूद थे। हालांकि उस वक्त प्रदेश में इसका रिकवरी रेट काफी अच्छा रहा। अकेले छत्तीसगढ़ में ही ब्लैक फंगस से संक्रमित कुल 70 से अधिक मरीजों की मौत हुई थी।

अगर केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए मौजूदा आंकड़ों की बात करें तो देश में जुलाई माह तक ब्लैक फंगस के कुल 45 हजार से अधिक मामले सामने आए थे। वही देशभर में ब्लैक फंगस से संक्रमित मरीजों के मरने वालों का आंकड़ा 4 हज़ार के पार रहा। लेकिन जुलाई के बाद से केंद्र सरकार द्वारा ब्लैक फंगस का कोई अन्य आंकड़ा नहीं जारी किया गया।

क्या होता है ब्लैक फंगस

भारत में जब कोरोनावायरस का दूसरा और अब तक का सबसे खतरनाक लहर आया था तब कोरोनावायरस के साथ एक और महामारी ब्लैक फंगस भी अपने साथ ले आया था। ब्लैक फंगस से ज्यादातर वही मरीज संक्रमित होते थे। जो कोरोना वायरस के दूसरे लहर में संक्रमित होने के बाद ठीक हो चुके थे। ब्लैक फंगस को लेकर विशेषज्ञों ने बताया की यह ज्यादा स्टेरॉयड (डेल्टा वैरिएंट से संक्रमित मरीजों के उपचार में ली जाने वाली दवाई) इस्तेमाल करने से हो रहा।

लक्षण

Black Fungus Symptoms

ब्लैक फंगस एक तरह का एक दुर्लभ इंफेक्शन है। यह हमारे ब्रेन, श्वास नली और आंखों पर फैलता है। ब्लैक फंगस से संक्रमित मरीज को चेहरे पर सूजन, सिर में दर्द, बार-बार उल्टी होना, सांस लेने में तकलीफ होना, बुखार, आंखों का लाल हो जाना, आंख खोलने और बंद करने में दिक्कत होना तथा आंखों में सूजन हो जाने दे कई लक्षण से पता लगाया जा सकता है।

खतरा-उपचार
Black Fungus Treatment

ब्लैक फंगस से सबसे ज्यादा खतरा उन लोगों को होता है जो कोरोना वायरस संक्रमण से हाल ही में ठीक हुए हो। साथ ही वह व्यक्ति जो लंबे टाइम से मधुमेह की बीमारी से ग्रसित हो। साथ ही ऐसे मरीज जिनके कैंसर और किडनी संबंधी दवाइयां चलती हो।

बात अगर ब्लैक फंगस के उपचार या सावधानियों का करें तो सबसे पहले हमारे शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत होना चाहिए। साथ ही अगर कोई ब्लैंक फंगस से संक्रमित हो जाता है तो इसके लिए एंटीफंगल दवाओं में एंफोटेरिसिन-बी जैसी दवाओं का इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि कभी भी ब्लैक फंगस के लक्षण दिखने पर सबसे पहले डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।

Bishwa Maurya

Bishwa Maurya

Next Story