Top

CBSE ने जारी किया नया फरमान, स्कूलों में शुरू होंगे ये दोनों कोर्स

सीबीएसई अब अपने स्कूलों में कोडिंग और डाटा साइंस के कोर्स शुरू करने जा रहा है। ऐसे में इन दोनों नए कोर्स का उद्देश्य बच्चों की तार्किक क्षमता को बढ़ाना है।

Network

NetworkNewstrack NetworkVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 4 Jun 2021 12:56 PM GMT

CBSE ने जारी किया नया फरमान, स्कूलों में शुरू होंगे ये दोनों कोर्स
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

CBSE Session 2021: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(CBSE) शैक्षणिक सत्र 2021-22 में स्कूलों को लेकर नया फरमान जारी हुआ है। ऐसे में सीबीएसई अब अपने स्कूलों में कोडिंग और डाटा साइंस के कोर्स शुरू करने जा रहा है। ऐसे में इन दोनों नए कोर्स का उद्देश्य बच्चों की तार्किक क्षमता को बढ़ाना है। इस बारे में केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने शुक्रवार को ट्वीट कर जानकारी दी।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा, नई शिक्षा नीति के तहत हमने यह वादा किया था कि स्कूलों के पाठ्यक्रमों में कोडिंग और डाटा साइंस को भी शामिल किया जाएगा। मुझे खुशी है कि सीबीएसई सत्र 2021 से इस वादे को पूरा करने जा रहा है।

स्कूलों के लिए जारी दिशा-निर्देश

आगे उन्होंने बताया कि माइक्रोसॉफ्ट के सहयोग से सीबीएसई भारत की भावी पीढ़ियों को नए जमाने के कौशल सिखाकर सशक्त बना रहा है। सीबीएसई ने संबद्ध स्कूलों को इस संबंध में जारी दिशानिर्देश में कहा है कि कोडिंग को कक्षा 6 से 8 तक में 12 घंटे के स्किल मॉड्यूल के तौर पर शामिल किया जाएगा। इससे छात्र-छात्राओं की तार्किक क्षमता भी बढ़ेगी तथा वे कृत्रिम बुद्धिमत्ता के बारे में जान सकेंगे।

इस पर बोर्ड ने कहा कि डाटा साइंस विषय को 8वीं कक्षा में 12 घंटे के स्किल मॉड्यूल के तौर पर शामिल किया जायेगा और 11वीं-12वीं में इसे कौशल विषय के तौर पर शामिल किया जाएगा। डाटा साइंस विषय से छात्रों को समस्या समाधान तथा आंकड़ा या डाटा जुटाने एवं संग्रहित करने के बारे में जानकारी मिलेगी।

इसके साथ ही उन्हें यह पता चलेगा कि उसका विश्लेषण करके कैसे निर्णय किया जाता है। जो स्कूल 11वीं में स्किल विषय के तौर पर इन विषयों को शामिल करने के लिए आवेदन करेंगे, उन्हें कोई फीस का भुगतान नहीं करना है। माइक्रोसॉफ्ट की मदद से दोनों विषयों के अध्ययन सामग्री और किताबें तैयार की गई हैं।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story