Top

बिना अनुमति के राज्य साझा न करें वैक्सीन स्टोरेज से जुड़ी जानकारी: केंद्र

केंद्र ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा है कि वे वैक्सीन स्टोरेज और तापमान की जानकारी किसी से साझा ना करें।

Network

NetworkNewstrack NetworkChitra SinghPublished By Chitra Singh

Published on 10 Jun 2021 1:32 AM GMT

Vaccine Storage
X

वैक्सीन स्टोरेज (फोटो- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारत सरकार ने वैक्सीन से जुड़ी जानकारी को लेकर राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखा है। केंद्र ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से कहा है कि वे वैक्सीन स्टोरेज (Vaccine Storage) और स्टोरेज तापमान (Temperature) की जानकारी सार्वजिनक मंच पर साझा न करें।

आपको बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Health Ministry) ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को एक पत्र लिखा है, जिसमें मंत्रालय ने कहा है, "वैक्सीन स्टोरेज और वैक्सीन स्टोरेज की तापमान से जुड़ी जानकारी के लिए केंद्र ने यूएनडीपी (United Nations Development Programme) की मदद से यूआईपी (Universal Immunization Program) के तहत इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलीजेंस नेटवर्क (EVIN) की शुरूआत की है। इसकी मदद से सभी राज्य कोरोना वैक्सीन से जुड़ी जानकारी हमें अपडेट कर रहे है। लेकिन इस में राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश को सुझाव दिया जा रहा है कि वे वैक्सीन स्टोरेज और उसकी तापमान संबंधी जानकारी मीडिया एजेंसी, साझेदार एजेंसी या अन्य संगठन को साझा न करें। ईविन संबंधी आंकड़ों और विश्लेषण पर स्वास्थ्य मंत्रालय का स्वामित्व है, इसलिए बिना मंत्रालय की परमिशन के बिना किसी से जानकारी साझा न किया जाए।"

आपको बता दें कि यह सुझाव प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य (आरसीएच) कार्यक्रम के सलाहकार प्रदीप हलदर (Pradeep Halder) ने दी है। उन्होंने कहा है, "यह बहुत ही संवेदनशील सूचना है और इसका इस्तेमाल केवल कार्यक्रम में सुधार के लिए किया जाना चाहिए।" वहीं मंत्रालय ने यह भी जानकारी दी है कि "केंद्र सरकार कोरोना टीकाकरण में अपनी पूरी ज़िम्मेदारी निभा रही है। मंत्रालय द्वारा अभी तक, राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को 25 करोड़ से अधिक वैक्सीन की डोज़ उपलब्ध करायी गयी हैं। राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी भी 1.33 करोड़ से अधिक वैक्सीन उपलब्ध हैं।"

Chitra Singh

Chitra Singh

Next Story