×

Coronavirus: कोरोना के बढ़ते मामलों से केंद्र चिंतित, दिल्ली सहित इन राज्यों को लिखी चिट्ठी

राजेश भूषण ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली, महाराष्ट्र, केरल, हरियाणा और मिजोरम के Authority से कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लगातार निगरानी लगातार बनाए रखने के निर्देश दिए हैं।

aman
Updated on: 12 April 2022 11:41 AM GMT
centre writes to letter delhi maharashtra with other 3 states on rising coronavirus cases
X

तेजी से फैल रहा कोरोना (Social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Covid-19 Cases Rise in India : भारत में कोरोना संक्रमण के मामले (Covid-19 Cases) एक बार फिर बढ़ने लगे हैं। लगातार सामने आ रहे मामलों ने केन्द्र सरकार की चिंताएं बढ़ा दी हैं। जिसे लेकर एक्शन में आ गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव (Union Health Secretary) राजेश भूषण ने राजधानी दिल्ली और महाराष्ट्र सहित पांच राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेश की सरकारों को चिट्ठी लिखी है।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव की ओर से इन सभी राज्यों को वहां पर कोरोना के बढ़े मामले और इसके प्रसार की रोकथाम के लिए कड़े कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। राजेश भूषण ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली, महाराष्ट्र, केरल, हरियाणा और मिजोरम के अथॉरिटी (Authority) से कोरोना संक्रमण (Covid-19) की रोकथाम के लिए लगातार निगरानी लगातार बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा, कि कोरोना प्रबंधन (Corona Management) के लिए जल्द और प्रभावी कदम उठाए जाएं।

राज्य अपनाएं Five Point Strategy

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने आगे कहा, कि कोरोना से संक्रमितों की बढ़ती संख्या की रोकथाम के लिए पांच सूत्रीय रणनीति (Five Point Strategy) अपनाई जाए। जिसके तहत टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट, वैक्सीनेशन और कोरोना से संबंधित सही व्यवहार अपनाए जाएं।

XE वेरिएंट को लेकर विशेष सतर्कता

बता दें, कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया (Mansukh Mandaviya) ने अधिकारियों को कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए स्वरूप 'एक्सई' (XE) को लेकर निगरानी और सतर्कता बढ़ाने के भी निर्देश दिए हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने नए वेरिएंट पर देश के प्रमुख चिकित्सा विशेषज्ञों की बैठक की अध्यक्षता भी की।

केन्द्र का निर्देश, बढ़ाएं निगरानी

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में अधिकारियों को कहा गया है, कि वे कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए आवश्यक दवाओं की उपलब्धता की लगातार समीक्षा करें। मनसुख मंडाविया ने कोरोना की रोकथाम के लिए टीकाकरण अभियान को और रफ्तार से चलाने तथा सभी पात्र लोगों का टीकाकरण करने पर जोर दिया।

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना मामले

देश में कोविड-19 (covid-19) के 796 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर कुल 4,30,36,928 हो गई। जबकि इस वक्त देश में इलाज करवा रहे मरीजों की संख्या गिरकर 10,889 रह गई है। ये आंकड़े स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ के आज, मंगलवार को जारी किए गए। मंत्रालय की ओर से सुबह 8 बजे जारी आंकड़ों के अनुसार, इस दौरान कोरोना संक्रमण से 19 लोगों की मौत हुई। जिसके बाद अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 5,21,710 हो गई है।

बीते 24 घंटों के दौरान आंकड़े

भारत में कोरोना संक्रमण का इलाज करवा रहे मरीजों की संख्या घटकर 10,889 रह गई है। यह कुल मामलों का 0.03 फीसद है। बता दें, कि कोरोना के मरीजों के स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर 98.76 प्रतिशत है। बीते 24 घंटे में इलाज करवा रहे मरीजों की संख्या में 169 की कमी दर्ज की गई। वहीं, राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अब तक टीकों की 185.90 करोड़ से अधिक खुराक लगाई जा चुकी है।

कोरोना से संबंधित बैठक में ये हुए शामिल

कोरोना को लेकर हुई बैठक में नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वीके पॉल, स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण, एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया, आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव तथा भारत में टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के प्रमुख डॉ. एन के. अरोड़ा और स्वास्थ्य मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

aman

aman

Next Story