×

आ गया कोरोना की तीसरी लहर का समय, ऐसे बच सकते हैं महाविनाश से

अभी हमारे देश की 2.5 फीसद आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेटेड हो चुकी है और 16 करोड़ 70 लाख लोगों को टीका दिया जा चुका है।

Ramkrishna Vajpei
Updated on: 10 May 2021 7:13 AM GMT
आ गया कोरोना की तीसरी लहर का समय, ऐसे बच सकते हैं महाविनाश से
X

सांकेतिक तस्वीर (साभार-सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ : कोरोना ( Corona) की तीसरी लहर आनी है यह तय माना जा रहा है लेकिन यह कब तक आएगी इस को लेकर हालांकि अभी तक कोई अधिकृत जानकारी सामने नहीं आई है। लेकिन बेंगलुरु (Bengaluru) के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक हेल्थ के महामारी विशेषज्ञ डॉ. गिरिवर बाबू का कहना है कि कोरोना की तीसरी लहर इस साल नवंबर दिसंबर तक आ सकती है। इसलिए जरूरी है कि हमारा टीकाकरण (Vaccination) का काम इसके लहर के आने से पहले तक पूरा कर लिया जाए। यदि हम ऐसा करने में कामयाब रहे तो हजारों जानों को बचाया जा सकेगा।

विशेषज्ञ के मुताबिक कोरोना की तीसरी लहर का आना तीन बातों पर निर्भर करेगा। पहली टीकाकरण की रफ्तार। वर्तमान में हमारे देश की 2.5 फीसद आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेटेड हो चुकी है और 16 करोड़ 70 लाख लोगों को टीका दिया जा चुका है। और तीन करोड़ 41 लाख लोग पूरी तरह वैक्सीनेटेड हो चुके हैं। जबकि वैश्विक स्तर पर चार फीसद आबादी का वैक्सीनेशन हुआ है। 128 करोड़ लोगों को वैक्सीन का डोज दिया जा चुका है और 31 करोड़ लोग पूरी तरह से वैक्सीनेटेड किये जा चुके हैं।

सांकेतिक तस्वीर (साभार-सोशल मीडिया)

वैक्सीन के प्रति जागरुकता

अगर इन आंकड़ों पर गौर करें तो भारत जहां की आबादी 139 करोड़ की आबादी है यहां लंबा सफर तय करना बाकी है। लेकिन जहां चाह होती है वहां राह भी होती है। भारत में सीरम इंस्टीट्यूट के अदार पूनावाला ने छह महीने के भीतर इंस्टीट्यूट की उत्पादन क्षमता 2.5 अरब से बढ़ाकर 3 अरब डोज सालाना होने की उम्मीद की है। इसी तरह देश में टीकाकरण अभियान को समर्थन देने के लिए भारत बायोटेक अगले महीने कोविड-19 टीके 'कोवैक्सिन' की तीन करोड़ खुराक का उत्पादन करेगी। कंपनी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक कृष्णा एल्ला ने बताया है कि मार्च में कंपनी ने कोवैक्सिन की 1.5 करोड़ खुराक का उत्पादन किया था।

सांकेतिक तस्वीर (साभार-सोशल मीडिया)

करनी होगी अब ये तैयारी

इस तरह से वैक्सीन लगवाने के प्रति जागरुकता लाकर यदि हम देश में 60 फीसदी आबादी को भी दीपावली तक वैक्सीनेटेड कर देते हैं तो हम तीसरी लहर का मुकाबला करने में सक्षम हो जाएंगे। चूंकि विशेषज्ञों का मानना है कि तीसरी लहर कम उम्र के लोगों पर अधिक असर डालेगी इसलिए इनके टीकाकरण पर विशेष ध्यान देना होगा। हमें इस लहर को रोकने के लिए अन्य पहलुओं के साथ कोविड गाइड लाइन का सख्ती से पालन करना होगा। पूरे देश में सभी को मास्क और छह फुट से अधिक की दूरी और सेनिटाइजर लेकर चलना आदत में शामिल करना होगा।

जबतक कि कोरोना की तीसरी लहर को रोक नहीं लिया जाता हमें सार्वजनिक आयोजनों, बाजारों में भीड़ लगाने माल में भीड़ लगाने और पर्यटक स्थलों, धार्मिक स्थलों पर भीड़ लगाने से बचना होगा। इसके अलावा कोरोना के नये वैरिएंट की पहचान का काम भी वैज्ञानिकों को जल्द से जल्द पूरा करना होगा।

Suman  Mishra | Astrologer

Suman Mishra | Astrologer

Next Story