×

होंगी 5 लाख मौतें: जानकर कांप जाएगी रूह, जानिए कब और कहां फैलेगा कोरोना

Corona Virus: फरवरी 2022 में कोविड 19 से 5 लाख मौतें होने की आशंका जताई गई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की चेतावनी के अनुसार वर्तमान में जल्द ही यूरोप भीषण सर्दी का सामना करेगा।

Rajat Verma
Updated on: 6 Nov 2021 1:40 PM GMT
होंगी 5 लाख मौतें: जानकर कांप जाएगी रूह, जानिए कब और कहां फैलेगा कोरोना
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Corona Virus : विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के विशेषज्ञों द्वारा जारी नवीनतम चेतावनी यूरोप और मध्य एशिया के लिए गंभीर चिंता का कारण बन गयी है। जहां अब आने वाले फरवरी 2022 में कोविड 19 से 5 लाख मौतें होने की आशंका जताई गई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की चेतावनी के अनुसार वर्तमान में जल्द ही यूरोप भीषण सर्दी का सामना करेगा तथा जिसके चलते ठंड का महीना आते ही कोविड-19 के मामलों में बढ़ोत्तरी देखे जाने के साथ ही सामान्य रूप से टीकाकरण (corona vaccination) की दर में कमी भी जिम्मेदार होगी।

वर्तमान में कोरोना महामारी को लेकर स्थिति अब इतनी गंभीर हो चुकी है कि यूरोप (Europe) और मध्य एशिया (Central Asia) के कई देश कोविड के खिलाफ अपनी सबसे बड़ी लड़ाई का सामना कर रहे हैं। यूरोपीय देश जर्मनी ने महामारी की शुरुआत के बाद से इस सप्ताह कोरोना के मामलों में अपनी उच्चतम दैनिक वृद्धि दर्ज की है।

टीकाकरण की दर में कमी भी जिम्मेदार होगी (कॉन्सेप्ट फोटो - सोशल मीडिया)

डब्ल्यूएचओ (WHO) के क्षेत्रीय निदेशक हैंस क्लूज (Hans Kluge) के अनुसार कोरोना मामलों की अविश्वसनीय गति गंभीर चिंता का कारण बन सकती है। डब्लूएचओ द्वारा जारी चेतावनी के अनुसार यदि कोरोना मामलों की दर में कमी नहीं आती है तथा हालात ऐसे ही बने रहे तो अगले साल फरवरी तक यूरोप और मध्य एशिया में लगभग 5 लाख कोविड -19 मौतें दर्ज की जा सकती हैं। कोरोना महामारी के दौरान यूरोप में अबतक कुल 14 लाख मौतें हो चुकी हैं। स्थिति की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए डब्लूएचओ ने खुलासा किया कि पिछले सप्ताह केवल यूरोप में 18 लाख नए कोरोना संक्रमण के मामले तथा इसके चलते 24,000 मौतें दर्ज की जा चुकी हैं।


कोविड 19 से होंगी 5 लाख मौतें (कॉन्सेप्ट फोटो - सोशल मीडिया)

यूरोप महाद्वीप के अंतर्गत आने वाले देश

रूस, जर्मनी, यूनाइटेड किंगडम, फ्रांस, इटली, स्पेन, यूक्रेन, पोलैंड, रोमानिया, नीदरलैंड, बेल्जियम, चेक रिपब्लिक, ग्रीस, पुर्तगाल, स्वीडन, हंगरी, बेलारूस, ऑस्ट्रिया, सर्बिया, स्विट्ज़रलैंड, बुल्गारिया, डेनमार्क, फ़िनलैंड, स्लोवाकिया, नॉर्वे, आयरलैंड, क्रोएशिया, माल्दोवा, बोस्निया, अल्बानिया, लिथुआनिया, नार्थ मैसेडोनिया, स्लोवानिया, लातविया, एस्टोनिया, मॉन्टेंगरो, लुसबर्ग, माल्टा, आइसलैंड, एंडोरा, मोनाको, सैन मारिनो, होली सी

मध्य एशिया के अंतर्गत मूल रूप से आने वाले देश

कजाखिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, ताजीकिस्तान, उज़्बेकिस्तान, किर्गिस्तान (सोवियत संघ से अलग होकर बने देश), चीन और भारत का अरुणाचल प्रदेश से लेकर तिब्बत का कुछ हिस्सा आता है।

Shraddha

Shraddha

Next Story