×

सावधान: ब्लैक फंगस से अब तक 100 मौतें, इन राज्यों में तेजी से बढ़ रहा कहर

Black Fungus: देश में तेजी से ब्लैक फंगस ने अपने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। अब तक इससे 100 से अधिक मौत हो चुकी हैं।

Network
Newstrack NetworkPublished By Shreya
Updated on: 2021-05-21T07:04:34+05:30
सावधान: ब्लैक फंगस से अब तक 100 मौतें, इन राज्यों में तेजी से बढ़ रहा कहर
X

लाल आंखें (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Black Fungus: देश में कोरोना वायरस (Corona Virus) संकट के बीच ब्लैक फंगस ने दस्तक दे दी है औऱ कई राज्यों में यह बीमारी तेजी से अपने पैर पसार रही है। अब तक भारत में Black Fungus के चलते करीब 100 से अधिक लोगों ने अपनी जान गंवा दी है। सबसे ज्यादा घातक रूप इसका महाराष्ट्र (Maharashtra), हरियाणा (Hariyana) और मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में देखने को मिल रहा है। इसके अलावा दिल्ली, यूपी जैसे राज्यों में भी लगातार ब्लैक फंगस (Black Fungus) के मामलों में वृद्धि दर्ज की जा रही है।

ब्लैक फंगस के बढ़ते हुए कहर के मद्देनजर केंद्र ने सभी राज्यों को पत्र लिखकर इसके लिए सतर्क किया है। साथ ही इसे महामारी एक्ट के तहत अधिसूचित रोग घोषित करने को कहा है। आपको बता दें कि ओडिशा सरकार तो ब्लैक फंगस को महामारी घोषित भी कर चुकी है। सूबे की नवीन पटनायक सरकार ने म्यूकरमाइकोसिस (Mucoremycosis) यानी ब्लैक फंगस को महामारी एक्ट 1897 (Epidemic Diseases Act 1897) के तहत अधिसूचित बीमारी माना है। जबकि दिल्ली ने कहा है कि अगर जरूरत पड़ी तो इसे महामारी घोषित किया जाएगा।

लाल आंखें - वायरस (सांकेतिक फोटो साभार- सोशल मीडिया)

इन राज्यों में बढ़ रहा ब्लैक फंगस का खतरा

महाराष्ट्र

पहले से ही कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण से बुरी तरह जूझ रहे राज्य महाराष्ट्र में ब्लैक फंगस का खतरा भी तेजी से बढ़ने लगा है। अब तक देश में इस बीमारी से 100 से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवा दी है, जिसमें से सबसे ज्यादा 90 मौतें महाराष्ट्र में ही हुई है।

इस इंफेक्शन को लेकर सूबे के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा कि राज्य में इस वक्त चिंता का सबसे बड़ा विषय म्यूकरमाइकोसिस (ब्लैक फंगस) है, जिस वजह से यहां पर 90 लोगों की मौत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि राज्य को इसके इलाज के लिए अधिक मात्रा में दवाओं की आवश्यकता है।

राजस्थान

यहां भी ब्लैक फंगस का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। राज्य में अब तक करीब 100 मरीज इस इंफेक्शन से संक्रमित हो चुके हैं। इसे लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को ट्वीट किया कि MUCORMYCOSIS (ब्लैक फंगस) के मरीजों का सम्पूर्ण विवरण राज्य सरकार के पास होना आवश्यक है। इसी के मद्देनजर MUCORMYCOSIS को सम्पूर्ण राज्य में महामारी तथा Notifiable Disease अधिसूचित किया गया है।

हरियाणा

हरियाणा में भी ब्लैक फंगस के मामलों में लगातार बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है। राज्य में अब तक ब्लैक फंगस से 226 लोग संक्रमित हो चुके हैं। जबकि कई जिलों में अब तक 14 लोगों ने अपनी जान गंवा दी है। बता दें कि राज्य सरकार ने ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों को देखते हुए 15 मई को ब्लैक फंगस को अधिसूचित रोग घोषित कर दिया था।

दिल्ली

वहीं, दिल्ली की बात करें तो यहां भी ब्लैक फंगस के चलते मौत का सिलसिला शुरू हो चुका है। अब तक राष्ट्रीय राजधानी के अलग-अलग अस्पतालों में करीब दस मरीजों की मौत हो चुकी है। हालांकि, सरकार ने अब तक ब्लैक फंगस मरीजों को लेकर आधिकारिक आंकड़े जारी नहीं किए हैं। साथ ही प्राइवेट अस्पतालों की ओर से भी सही जानकारी देने में आनाकानी की जा रही है। लेकिन बताया जा रहा है कि अलग अलग अस्पतालों में ब्लैक फंगस के करीब 300 से ज्यादा मरीज भर्ती हो चुके हैं।

दूसरी ओर ब्लैक फंगस के बढ़ते कहर को देखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो फिर ब्लैक फंगस या म्यूकरमाइकोसिस को महामारी घोषित किया जाएगा। उन्होंने अस्पतालों से आग्रह किया कि वे कोविड-19 के उपचार में स्टेरॉइड दवाओं का नियंत्रित तरीके से इस्तेमाल करें।

Black Fungus को लेकर एक्शन में केंद्र

वहीं, केंद्र की ओर से भी इस बीमारी को लेकर पूरी सतर्कता दिखाई जा रही है। इसी क्रम में केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया ने गुरुवार को ऐलान किया कि म्यूकोरमाइकोसिस के इलाज में उपयोगी दवा एम्फोटेरिसीन-बी की कमी के मुद्दे जल्द समाधान किया जाएगा। कई नई दवा कंपनियों को इस औषधि के विनिर्माण की मंजूरी दी गई है।

कैसे पहचाने म्यूकोरमाइकोसीस के लक्षण

अगर बात करें ब्लैक फंगस (Black Fungus) के लक्षण की तो यह फंगल इन्फेक्शन आप के चेहरे पर सीधा असर डालता है। जिससे आपकी बनावट में बदलाव देखने को मिल सकता है। इसके साथ ही यह शरीर के दूसरे अंगों को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। जैसे सिर में बहुत ज्यादा दर्द होना, आंखों की रोशनी कम हो जाना या खराब होना, इस इन्फेक्शन से आपके गले से लेकर आंखों और चेहरे पर सूजन दिखेगी।

इसके अलावा आंखों में लालपन होना, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ, उल्टी में खून आना, पेट में दर्द। स्किन में इंफेक्शन होने पर कालापन आ जाता है। यह फंगस रोगियों के दिमाग पर भी गहरा असर डालता है। ऐसे में अगर ये लक्षण दिखते हैं तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।


Shreya

Shreya

Next Story