×

Coronavirus Delta Plus Variant: डेल्टा प्लस है खतरनाक, वैक्सीन लगी हो तब भी डबल मास्क लगाएं

देश में कोरोना के डेल्टा वेरियंट के साथ डेल्टा प्लस वेरियंट भी फैला हुआ है।अभी देश में महामारी की दूसरी लहर चल रही है और आने वाले दिनों में तीसरी लहर की चिंता बरकरार है।

Delta Plus is Dangerous
X

डेल्टा प्लस है खतरनाक: डिजाईन फोटो- सोशल मीडिया 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Coronavirus Delta Plus Variant: भारत में भले ही कोरोना के मामले काफी घट गए हैं लेकिन तब भी रोजाना हजारों लोग संक्रमित होते जा रहे हैं। देश में कोरोना के डेल्टा वेरियंट के साथ डेल्टा प्लस वेरियंट भी फैला हुआ है।अभी देश में महामारी की दूसरी लहर चल रही है और आने वाले दिनों में तीसरी लहर की चिंता बरकरार है। ऐसे में डेल्टा प्लस वैरिएंट ने चिंता और बढ़ा दी है, जिसे भारत सरकार के वैज्ञानिक अब 'वेरिएंट ऑफ कंसर्न' मान रहे हैं। भले ही अभी तक इस स्ट्रेन के ज्यादा मामले देश में नहीं आए हैं, लेकिन पहले भी कम मामलों से शुरुआत हुई थी जो बाद में बड़ी आफत के रूप में सामने आई।

ज्यादा चिंता क्यों

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक डेल्टा प्लस वैरिएंट में ज्यादा तेजी से फैलने की क्षमता, फेफड़ों की कोशिकाओं के रिसेप्टर्स में मजबूती से चिपकने की क्षमता और मोनोक्लोनल एंटीबॉडी प्रतिक्रिया में कमी जैसी विशेषताएं हैं। विशेषज्ञों की चिंता है कि डेल्टा प्लस कहीं कोरोना के मौजूदा इलाज के खिलाफ रेसिस्टेंस न पैदा कर दे। यही नहीं, चिंता ये भी कि इस वैरिएंट के खिलाफ मौजूदा वैक्सीन कारगर होगी भी या नहीं ?

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और डेल्टा प्लस: फोटो- सोशल मीडिया

चूंकि कोरोना की दूसरी लहर में मरीजों को स्टेरॉयड और अन्य दवाओं की वजह से तथा अस्पताल में भर्ती मरीजों में बाद में खतरनाक फंगल इंफेक्शन के हजारों केस आये हैं सो ऐसे में ये अच्छी तरह समझ लेना चाहिए कि कोरोना संक्रमण न होने पाए इसके लिए हरसंभव उपाय सभी को करना होगा। दवाओं का उपयोग अब बहुत संभाल कर करना है। ये नौबत न आने दें कि अस्पताल में भर्ती हो कर ऑक्सीजन लेनी पड़े।

डेल्टा प्लस संक्रमण के लक्षण

डेल्टा प्लस के खास लक्षणों में कंजक्टिवाइटिस और गले में खराश सबसे प्रमुख हैं। इसके अलावा अन्य लक्षण ये हैं -

खांसी, बुखार, जुकाम

सीने में दर्द, सिरदर्द

सांस लेने में परेशानी

त्वचा पर चकत्ते पड़ना

स्वद व गंध ना आना

वैक्सीन लगी हो तब भी डबल मास्क लगाएं: फोटो- सोशल मीडिया

कैसे करें अपनी सुरक्षा

- जब भी घर से बाहर निकलें, डबल मास्क पहनें। हो सके तो सिर्फ जरूरत पड़ने पर ही घर से बाहर जाएं।

- अगर वैक्सीन लग चुकी है तब भी डबल मास्क जरूर लगाएं।

- हाथों को बार-बार अच्छी तरह साबुन से धोएं और किसी भी चीज को छूने से पहले सैनेंटाइज करें।

- सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और कम से कम 6 फीट की दूरी बना कर रखें।

- घर की चीजों और आसपास की जगहों को साफ रखें और डिसइंफेक्ट करते रहें.

- बाहर से आने वाले सामन को पहले डिसइंफेक्ट करें और फिर घर में लाएं।

- एक्सपर्ट्स का कहना है कि जिन लोगों को डायबिटीज या हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत है या फिर इम्यूनिटी कमजोर है तो ऐसे लोग ज्यादा सावधानी बरतें। ब्लड शुगर लेवल की नियमित जांच करते रहें और इसे कंट्रोल में रखें।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story