Top

कोरोना काल में बेकाबू महंगाई, मध्यम वर्ग पर बुरा असर, ग्रॉसरी से सब्जियों तक इतने बढ़े दाम

रोजमर्रा यूज़ (daily use food) होने वाले ग्रॉसरी आइटम (grocery items) भी आसमान छू रहे हैं । एक साल में 40 फीसदी तक की बढ़त देखी गई जबकि खाद्य तेलों के दाम 50 फीसदी तक बढ़े।

Network

NetworkNewstrack NetworkMonikaPublished By Monika

Published on 11 Jun 2021 11:35 AM GMT

कोरोना काल में बेकाबू महंगाई, मध्यम वर्ग पर बुरा असर, ग्रॉसरी से सब्जियों तक इतने बढ़े दाम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोरोना काल में महंगाई बेकाबू (Inflation uncontrollable) होती जा रही हैं । एक तो लॉकडाउन के दौरान कई लोगों की नौकरी चली गई, कई आधी सैलरी पर काम करने पर मजबूर हैं। महंगाई का सबसे ज्यादा असर गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों को झेलना पड़ रहा है । रोजमर्रा यूज़ (daily use food) होने वाले ग्रॉसरी आइटम (grocery items) भी आसमान छू रहे हैं । एक साल में 40 फीसदी तक की बढ़त देखी गई जबकि खाद्य तेलों के दाम 50 फीसदी तक बढ़े ।

कंज्यूमर गुड्स की बात करें तो एक साल में दाम में करीब 20 फीसदी की बढ़त देखी गई है । जो Fortune ब्रैंड सरसों तेल 135 रुपए लीटर थी वही अब 185 रुपए लीटर हो गया है । इसी तरह एक लीटर का रुचि गोल्ड तेल पिछले साल अप्रैल में 129 रुपए थी लेकिन अब इसकी कीमत 170 रुपए लीटर है ।

रोजाना खाए जाने वाला चावल, दाल, चीनी भी लोगों को अब रुलाने लगा है । जिसे पहले लोग रोजाना इस्तेमाल करते थे उसे सब सोच समाज कर बचा रहे हैं । पिछले साल 81 रूपए किलो बिक रहा अरहर दाल आज के समय में 107 रुपए किलों मिल रहा है । चायपत्ती के दाम भी बढ़ गए हैं । राहत देने वाली खबर ये हैं की इस दौरान आटा स्थिर है, इसके दाम में कोई उछाल नहीं देखा गया । एक 125 ग्राम लाइफबॉय साबुन 22 रुपए से बढ़कर 27 रुपए हो गया, Dove साबुन 123 से 142 रुपए हो गया । सर्फ एक्सेल में भी 8 रुपए की बढ़त दिखी । खाने का बिस्किट उसके भी दाम बढ़े हैं ।

shop X के फाउंडर एवं सीईओ अमित शर्मा ने बताया कि जिनके दाम बढ़े हैं उनमें ...

चावल (7 फीसदी)

साबुन (15 फीसदी)

डिटर्जेंट (10 फीसदी)

फ्लोर क्लीनर (5 फीसदी)

चीनी (5 फीसदी) शामिल हैं।

केवल ग्रॉसरी ही नहीं बाजार में सब्जियों के रेट भी बढ़े दिखे । इसे देख कर आम आदमी को ये बात समझ नहीं आ रही की वो क्या खरीदे क्या ना खरीदे । बारिश का मौसम आते ही सब्जियों के दाम भी आसमान छोने लगे हैं । यहां देखे सब्जियों का रेट ।

बाजार में सब्जियों के रेट प्रति किलो

सब्जी 15 दिन पहले के रेट अब मंडी के रेट बाहर के रेट

नीबू- 150 से 160 रुपये 22 से 25 रुपये 30 से 40 रुपये

अदरक - 80 से 100 रुपये 22 से 25 रुपये 30 से 40 रुपये

लहसून- 100 से 120 रुपये 56 से 60 रुपये 80 से 100 रुपये

प्याज- 20 से 25 रुपये 12 से 13 रुपये 15 से 20 रुपये

लौकी - 15 से 20 रुपये 4 से 5 रुपये 8 से 10 रुपये

टमाटर- 10 से 15 रुपये 7 से 8 रुपये 10 से 12 रुपये

आलू - 10 से 15 रुपये 7 से 8 रुपये 10 से 12 रुपये

करेला- 25 से 30 रुपये 10 से 11 रुपये 15 से 20 रुपये

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Monika

Monika

Next Story