Top

केरल में प्रवासी मजदूरों की मदद में जुटे चर्च

केरल सरकार ने प्रवासी मजदूरों को मुफ्त भोजन, कोरोना का मुफ्त इलाज और मुफ्त वैक्सीन का भरोसा दिया है।

migrant laborers
X

फोटो— प्रवासी मजदूर (साभार— सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ। केरल में कोरोना महामारी के इस भयानक दौर में पूर्ण लॉकडाउन लगा हुआ है जिसमें बंगाल, असम, झारखंड और बिहार के लाखों प्रवासी मजदूर फंसे हुये हैं। केरल की सरकार इस मुश्किल घड़ी में इन मजदूरों की मदद के लिए आगे बढ़ कर काम कर रही और इसमें राज्य के चर्च भी बढ़चढ़ कर अपना योगदान कर रहे हैं।

केरल सरकार (Kerala government) ने प्रवासी मजदूरों को मुफ्त भोजन, कोरोना का मुफ्त इलाज और मुफ्त वैक्सीन का भरोसा दिया है। ये सब उचित तरीके से मजदूरों को मिल जाये, इसके लिए चर्चों से जुड़े सामाजिक संगठनों से मदद मिल रही है।

मिसाल के तौर पर मलंकारा ऑर्थोडॉक्स चर्च के एनजीओ मलंकारा सोशल सर्विस सोसाइटी ने 'प्रवासी बंधु' नाम से हेल्प डेस्क शुरू की है जिसका काम ये सुनिश्चित करना है कि सरकार के सभी कल्याणकारी उपाय प्रवासी मजदूरों तक पहुंच जाएं।

चर्च द्वारा फंडेड एक अन्य संगठन कैरिटास इंडिया शहरों में प्रवासी मजदूरों को मदद पहुंचाने का काम कर रहा है। इस संगठन के कार्यकारी निदेशक फादर थॉमस ने बताया कि उन्होंने कोच्चि, तिरुवनंतपुरम और कन्नूर में हेल्प डेस्क स्थापित की हैं जिनके जरिये मजदूरों को मुफ्त राशन, कोरोना का इलाज और अन्य कोई भी मदद तत्काल उपलब्ध कराई जा रही है। फादर थॉमस ने बताया कि राज्य के श्रम विभाग ने प्रवासी मजदूरों की कोरोना जांच का अभियान छेड़ा हुआ है।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story