Top

Coronavirus: इन राज्यों में कोरोना के मामले अभी भी ज्यादा, बिहार में हो रहा गड़बड़ झाला

Coronavirus: बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 94,052 मामले सामने आए हैं। जिसमें 68 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र, तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में मिले हैं।

Network

NetworkNewstrack NetworkVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 11 Jun 2021 2:53 AM GMT

In the last 24 hours, 94,052 cases of corona infection have been reported.
X

कोरोना वायरस (फाइल फोटो- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Coronavirus: पूरे देश में कोरोना वायरस(Coronavirus) के तेजी से फैलते संक्रमण में अब लगाम तो लग गई है। जिनके चलते गुरूवार को 24 घंटे में संक्रमण के 94,052 मामले सामने आए हैं। जिसमें 68 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र (Maharashtra), तमिलनाडु (Tamil Nadu), केरल (Kerala), कर्नाटक (Karnataka) और आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) में मिले हैं। जबकि पिछले एक दिन में 6,148 मरीजों की मौत हो गई। जोकि अभी तक का रिकॉर्ड है।

बिहार में संक्रमण अभी भी पैर पसारे हुए है। मौतों की संख्या में ये वृद्धि बिहार सरकार द्वारा आंकड़ों में बाजीगरी के चलते आया है। जिनमें सिर्फ बिहार के 3,951 मरीजों की मौत भी शामिल है।

11,67,952 सक्रिय मामले

इसमें राहत की बात ये है कि एक दिन में 1,51,367 लोग ठीक भी हुए हैं। जबकि इलाज करा रहे लोगों की संख्या में 61,372 की कमी दर्ज की गई। वैसे अब देश में सक्रिय मामलों की संख्या कम होकर 12 लाख से कम पर आ गई है।

इस बारे में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि लगातार 28वें दिन कोरोना वायरस के नए मामलों से ज्यादा ठीक होने वालों की संख्या है। इसी के साथ ही कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 2,91,83,121 हो चुकी है, जिनमें से 2,76,55,493 अब तक स्वस्थ हो चुके हैं। अब भी देश में 11,67,952 सक्रिय मामले हैं, जिनका घर या फिर अस्पतालों में इलाज चल रहा है। संक्रमण से अब तक देश में 3, 59,676 लोगों की जान जा चुकी है।

ऐसे में इस दौरान कोरोना की मृत्युदर 1.20 से बढ़कर 1.22 प्रतिशत तक पहुंच चुकी है। वहीं सात दिन पहले यह दर 1.16 प्रतिशत थी। जबकि ठीक होने की दर भी 94 प्रतिशत से ज्यादा है।

केंद्रीय मंत्रालय ने बताया कि एक दिन में 20 लाख सैंपल की जांच हुई है, जिनमें 4.69 प्रतिशत कोरोना संक्रमित मिले हैं। अगर साप्ताहिक दर की बात करें तो यह 5.43 प्रतिशत है। बीते 17 दिन से यह दर 10 प्रतिशत से कम बनी हुई है।


असल में बात ये है कि बिहार के स्वास्थ्य विभाग ने मौत की संख्या में संशोधन करते हुए बताया कि उनके यहां 3,951 लोगों की मौत की जानकारी अब मिली है। इन्हें अब सरकारी कागजों में शामिल किया गया है। इसके बाद बिहार में अभी तक संक्रमण से मरने वालों की संख्या 9,429 हो चुकी है। फिलहाल विभाग ने ये साफ नहीं किया गया है कि ये मौतें कब हुई हैं।

टीको के साथ खिलवाड़

इस बारे में स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों से सामने आई जानकारी के अनुसार, केरल और पश्चिम बंगाल ने मिलकर ढाई लाख से ज्यादा खुराकें बचाई हैं। केरल ने 1.10 लाख और बंगाल ने 1.61 लाख खुराक की बचत की। वहीं, अकेले झारखंड ने 34 प्रतिशत खुराकें बर्बाद कर दीं। टीका बर्बादी के मामले में झारखंड के बाद 15.79 प्रतिशत के साथ छत्तीसगढ़ है।

अन्य राज्यों मध्यप्रदेश 7.35, पंजाब 7.08, दिल्ली 3.95, राजस्थान 3.91, यूपी 3.78, गुजरात 3.63 और महाराष्ट्र में 3.59 प्रतिशत खुराक बेकार हो गईं। मई में राज्यों को कुल 7.90 करोड़ खुराक की आपूर्ति की गई थी, जबकि 6.10 करोड़ टीकाकरण हुआ। मई में टीकाकरण अप्रैल की तुलना में कम था। अप्रैल में 9.02 करोड़ खुराक का इस्तेमाल किया गया था जिनमें 8.98 करोड़ खुराक लोगों को दी गईं।

वहीं यूपी सरकार ने दावा किया है कि प्रदेश में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मानक से 10 गुना ज्यादा जांच कराई जा रही है, जिसका परिणाम ये है कि प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर पर पूरी तरह नियंत्रण पा लिया गया है।

इस पर डब्ल्यूएचओ के मानक के अनुसार, यूपी में प्रतिदिन 32 हजार टेस्ट का लक्ष्य था, लेकिन हर रोज औसतन 3 लाख से ज्यादा जांच की गई है। वहीं, पिछले एक दिन में प्रदेश में कोरोना के 642 नए मामले मिले हैं। वहीं, 1,231 लोग स्वस्थ हुए, जबकि 82 संक्रमितों की मौत हो गई। फिलहाल ये आकड़ा पहले के मुताबिक उतना भयावह नहीं है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story