×

क्या देश में आ गई कोरोना की तीसरी लहर? 31 जुलाई तक फिर से लग रहा लॉकडाउन?

दुनियाभर में फैली कोरोना वायरस महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। वैक्सीन आने के बावजूद भारत सरकार समय समय पर दिशा निर्देशों के पालन को लेकर ऐडवाइज़री जारी कर रही है।

Meghna

MeghnaWritten By MeghnaMonikaPublished By Monika

Published on 1 July 2021 3:02 AM GMT

क्या देश में आ गई कोरोना की तीसरी लहर? 31 जुलाई तक फिर से लग रहा लॉकडाउन?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Coronavirus Third Wave: क्या भारत में कोरोना वायरस महामारी (coronavirus ) को ध्यान में रखते हुए पीएम मोदी ने 31 जुलाई तक किया है सख्त लॉकडाउन (lockdown) का ऐलान? क्या देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर (coronavirus third wave) ने दे दी है दस्तक? क्या महामारी के बीच अब लॉकडाउन की मार भी झेलेगी जनता? जानें सोशल मीडिया पर वायरल (social media viral news ) हो रहे इस खबर का सच!

दुनियाभर में फैली कोरोना वायरस महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। वैक्सीन आने के बावजूद भारत सरकार समय समय पर दिशा निर्देशों के पालन को लेकर ऐडवाइज़री जारी कर रही है। देश में फैली नई लहर तेज़ी से पैर पसार रही है, ऐसे में ये ज़रूरी है कि लोग दिशा निर्देशों के पालन को गंभीरता से लें और साथ ही फर्ज़ी खबरों और अफवाहों से भी दूर रहें और उन्हें शेयर करने से बचें।

31 जुलाई तक लग रहा लॉकडाउन?

सोशल मीडिया पर एक खबर तेज़ी से वायरल हो रही है जिसमें कोरोना वायरस की तीसरी लहर और लॉकडाउन को लेकर कई कुछ दावे किए जा रहे हैं। खबर में लिखा है, "पूरे देश में फिर से लॉकडाउन लगाने की तैयारी। कोरोना वायरस की तीसरी लहर शुरू हुई, पीएम मोदी ने किया ऐलान। 1 जुलाई से 31 जुलाई तक सख्त लॉकडाउन।"

फर्ज़ी है खबर

तेज़ी से वायरल हो रहे इस खबर पर संज्ञान लेते हुए इसको शेयर कर सरकार की पीआईबी फैक्ट चेक के ट्विटर हैंडल ने स्पष्टीकरण जारी किया है। हैंडल ने ट्वीट किया, "एक फर्जी तस्वीर में पीएम मोदी के हवाले से कोरोना की तीसरी लहर शुरु होने व लॉकडाउन लगाने का दावा किया गया है। यह दावा फर्ज़ी है। पीएम मोदी ने कोरोना वायरस की तीसरी लहर शुरू होने और लॉकडाउन लगाने के संदर्भ में ऐसी कोई घोषणा नहीं की है। पीएम द्वारा ऐसा कोई ऐलान नहीं किया गया है। कृपया ऐसे भ्रामक संदेशों को साझा न करें। कोरोना से बचाव के लिए कोविड उपयुक्त व्यवहार अवश्य अपनाएँ।"

Monika

Monika

Next Story