Top

महाराष्ट्र में कोरोना ने तोड़े रिकाॅर्ड, MP के इन शहरों में लाॅकडाउन

महाराष्ट्र में कोरोना के नए केस में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है। राज्य में आज रिकॉर्ड 59907 मामलों की पुष्टि हुई है

Ashiki Patel

Ashiki PatelPublished By Ashiki Patel

Published on 7 April 2021 5:34 PM GMT

Corona Virus
X

फाइल फोटो 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: देश में पिछले 24 घंटे में सामने आए कोरोना के नए मामलों ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। देश में मंगलवार को कोविड के 1.15 लाख नए मामले दर्ज किए गए। वहीं महाराष्ट्र स्वास्थ्य विभाग की तरफ से रात के करीब 9 बजे जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 59 हजार 907 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं, जो किसी एक दिन में राज्य में सर्वाधिक संख्या है।

महाराष्ट्र में कोरोना ने सारे रिकॉर्ड किये ध्वस्त

सिर्फ इतना ही नहीं मुंबई में पिछले 24 घंटे में 322 मरीजों की मौत भी हुई है। महाराष्ट्र के केवल मुंबई में पिछले 24 घंटे में 10,428 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं और 23 लोगों की मौत हुई है। महाराष्ट्र में अब तक 31 लाख 73 हजार 261 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और 56 हजार 652 मरीजों की मौत हुई है।

पिछले तीन दिन के आंकड़े

आपको बता दें कि रविवार को महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के 57,074 नए मामले सामने आए थे। जो किसी एक दिन में राज्य में सर्वाधिक संख्या थी। वहीं मंगलवार को राज्य में 55 हजार 469 लोग और सोमवार को 47 हजार 288 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे।

इस बीच खबर आ रही है कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने छिंदवाड़ा में सात दिन और शाजापुर में दो दिन का कम्पलीट लॉक डाउन लगाने का फैसला लिया है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, दिल्ली, मध्य प्रदेश और गुजरात में कोविड-19 के नए केस सबसे ज्यादा बढ़ रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, मंगलवार को इन 8 राज्यों से 80.04% नए मामले सामने आए थे। विभिन्न राज्यों के द्वारा सभी को वैक्सीन लगाने की मांग के बीच केंद्र सरकार ने कहा कि लक्ष्य सबसे जोखिम वाले लोगों को सुरक्षित करना है। वहीं IMA ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर सुझाव दिया कि 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को टीका लेने की अनुमति देनी चाहिए।

Ashiki

Ashiki

Next Story