Top

चक्रवाती तूफान का बढ़ने लगा खतरा, अरब सागर से आने वाला है 'तौकते', इन राज्यों में होगा असर

इस साल के पहले चक्रवाती तूफान के आने की संभावना है जो पूर्व-मध्य अरब सागर से आने वाला है ।

Network

NetworkNewstrack Network NetworkMonikaPublished By Monika

Published on 13 May 2021 2:51 AM GMT

Cyclonic storm in India
X

चक्रवाती तूफान का बन रहा खतरा ( सांकेतिक) फोटो: सोशल मीडिया 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: देश में अभी कोरोना की दूसरी लहर (Coronavirus second wave) तबाही मचा रही है जिसके चलते लाखों लोग हर रोज इसकी चपेट में आ रहे हैं, वहीं कई अपनी जान भी गंवा चुके हैं । इसी बीच भारत में एक और खतरा मंडरा रहा है । इस साल के पहले चक्रवाती तूफान के आने की संभावना है (Chance of cyclonic storm)। जो पूर्व-मध्य अरब सागर से आने वाला है।

बता दें, इन दिनों देशभर में मौसम का मिजाज काफी गरम देखने को मिल रहा है, हालांकि उत्तर भारत में पिछले कुछ दिनों से हल्की बारिश देखने को मिल रही हैं । भारतीय मौसम विभाग (IMD) का कहना है कि इस हफ्ते के अंत तक साल का पहला चक्रवाती तूफान 'तौकते' (Tauktae) पश्चिमी तट से टकरा सकता है ।

IMD का कहना है कि 14 मई सुबह दक्षिण-पूर्व अरब सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है, जो 16 मई के करीब एक्टिव हो सकता है । ये दक्षिण पूर्व अरब सागर और उससे सटे लक्षद्वीप क्षेत्र में उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ सकता है ।

कहां हो सकता है चक्रवाती तूफान का खतरा

मौसम विभाग की माने तो ये चक्रवाती तूफान 'तौकते' सीधा असर देश के इन इलाकों में कर सकता है जिसमें लक्षद्वीप , केरल , कर्नाटक , गोवा और महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्रो में बारिश होने की संभावनाए बन रही है ।

आपको बता दें, IMD के मुताबिक, 16 मई रविवार के करीब पूर्व मध्य अरब सागर में चक्रवाती तूफान के तेज होने के आसार के साथ और विकसित हो सकता है जो उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ सकता है । हालांकि , कुछ न्यूमेरिकल मॉडल गुजरात और दक्षिण में कुछ क्षेत्रों की ओर होने की संभावना बता रहे हैं । वहीं अन्य दक्षिण ओमान की तरफ जाने का संकेत दे रहे हैं ।

किसने दिया 'तौकते' नाम

तौकते नाम म्यांमार द्वारा दिया गया है जिसका अर्थ है गेको। इसका मतलब एक छिपकली जो अपने असाधारण चीजों के लिए जाना जाता है। बता दें, निवार के बाद और बुरेबी से पहले भी तूफान आया था जिसका नाम भारत ने रखा था , जबकि निवार नाम ईरान ने दिया था, वहीं बुरेबी का नाम मालदीव ने रखा था और अब इस आने वाले तूफान का नाम 'तौकते' म्यांमार ने दिया।

Monika

Monika

Next Story