×

दरभंगा ब्लास्ट केस में NIA का बड़ा खुलासा, पाकिस्तान से हुई लाखों की फंडिंग

बिहार के दरभंगा ब्लास्ट केस में हर दिन नए-नए खुलासे हो रहे है। अब ये बात निकलकर सामने आ रही है कि पाक में बैठे आतंकियों के इशारे पर ही देश को दहलाने की बड़ी साजिश को अंजाम दिया गया था। इसके लिए फंडिग भी की गई थी।

Priya Panwar

Priya PanwarNewstrack Priya Panwar

Published on 4 July 2021 4:53 AM GMT

दरभंगा ब्लास्ट केस में NIA का बड़ा खुलासा, पाकिस्तान से हुई लाखों की फंडिंग
X

(कॉन्सेप्ट फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली. बिहार के दरभंगा ब्लास्ट केस में हर दिन नए-नए खुलासे हो रहे है। अब ये बात निकलकर सामने आ रही है कि पाक में बैठे आतंकियों के इशारे पर ही देश को दहलाने की बड़ी साजिश को अंजाम दिया गया था। इसके लिए फंडिग भी की गई थी। बता दें कि 17 जून को बिहार के दरभंगा स्टेशन पर कपड़े के पार्सल में ब्लास्ट हुआ था, यह पार्सल सिकंदराबाद से आया था। इस मामले में यूपी के कैराना से अरेस्ट हुए सलीम और कफील नाम के दो आरोपियों ने बड़ी भूमिका निभाई थी।

जानकारी के मुताबिक, इस मामले में एक फोन नंबर से साजिश खुलासा हुआ है। 17 जून को देश को दहलाने की बड़ी साजिश बेशक नाकाम हो गई लेकिन इसके तार एक बार फिर सरहद पार यानी पाकिस्तान से जुड़े हुए नजर आ रहे है। इस साजिश का मास्टर माइंड इकबाल काना है, जो पाकिस्तान में बैठकर ये प्लान तैयार कर रहा था। खबरों की मानें तो वारदात के लिए फिलहाल 1 लाख 60 हजार रुपये की फंडिंग की गई थी और अगर ये लोग अपने मंसूबे में कामयाब हो जाते तो इन्हें करोड़ों रुपये की फंडिग मिलती। फिलहाल, साजिश के सभी आरोपी एनआईए की गिरफ्त में है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

कफील को छह दिन का रिमांड

एनआईए की स्पेशल कोर्ट ने वारदात को अंजाम देने वाले नासिर और इमराम को शुक्रवार को 7 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है और अब एनआईए की टीम दोनों आरोपियों को दिल्ली लेकर आ चुकी है। इसके साथ ही कैराना से गिरफ्तार हुए कफील की 6 दिन की रिमांड पर भेजा गया है, फिलहाल, वह पटना के बेऊर जेल में है, जहां से एनआईए की टीम उसे हिरासत में लेगी। हालांकि मुख्य साजिशकर्ता सलीम अभी बीमार है जिसके चलते उसे न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

Priya Panwar

Priya Panwar

Next Story