×

Good News: दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, मजदूरों के न्यूनतम वेतन में की बढ़ोतरी

महंगाई और कोरोना महामारी ने देश के श्रमिक वर्ग की कमर तोड़कर रख दी थी। लेकिन, सोमवार को दिल्ली सरकार ऐसे मजदूरों के लिए खुशबखरी लेकर आई। अरविंद केजरीवाल सरकार ने सभी वर्ग के मजदूरों की न्यूनतम मजदूरी दर में बढ़ोतरी का ऐलान किया है।

aman
Published By aman
Updated on: 8 Nov 2021 5:13 PM GMT
Good News: दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, मजदूरों के न्यूनतम वेतन में की बढ़ोतरी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

महंगाई और कोरोना महामारी ने देश के श्रमिक वर्ग की कमर तोड़कर रख दी थी। लेकिन, सोमवार (08 नवंबर 2021) को दिल्ली सरकार ऐसे मजदूरों के लिए खुशबखरी लेकर आई। दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने सभी वर्ग के मजदूरों की न्यूनतम मजदूरी दर में बढ़ोतरी का ऐलान किया है। दिल्ली सरकार के इस फैसले से कुशल, अकुशल, अर्ध कुशल, तथा अन्य श्रमिकों का महंगाई भत्ता बढ़ेगा, जिससे उन्हें राहत मिलेगी ।

कितनी हुई वेतन वृद्धि?

दिल्ली सरकार द्वारा श्रमिकों के न्यूनतम वेतन में वृद्धि की नई दरें एक अक्टूबर 2021 से लागू मानी जाएंगी। वेतन वृद्धि के बाद अकुशल श्रमिकों का वेतन 15,908 रुपए से बढ़कर 16,064 तथा अर्ध-कुशल श्रमिकों का वेतन 17,537 रुपए से बढ़कर 17,693 रुपए हो गया है। जबकि, कुशल श्रमिकों का मासिक वेतन 19,291 रुपए से बढ़कर 19,473 रुपए हो गया है।

बता दें, कि महंगाई भत्ते के तहत सुपरवाइजर और लिपिक वर्ग कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन की दर में वृद्धि की गई है। इनमें गैर मैट्रिक कर्मचारियों का मासिक वेतन 17,537 रुपए से बढ़ाकर 17,693 रुपए किया गया है। जबकि, मैट्रिक लेकिन गैर स्नातक कर्मचारियों का मासिक वेतन 19,291 रुपए से बढ़ाकर 19,473 रुपए किया गया है। वहीं, स्नातक और इससे अधिक शैक्षणिक योग्यता वाले कर्मचारियों का मासिक वेतन 20,976 रुपए से बढ़ाकर 21,184 रुपए कर दिया गया है।


भुगतान सुनिश्चित करने के निर्देश

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राज्य के अकुशल, अर्ध कुशल सहित अन्य श्रमिकों के महंगाई भत्ता बढ़ाने वाला आदेश जारी किया। साथ ही, उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने श्रमिकों और कर्मचारियों को बढ़ी दर के साथ भुगतान सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए हैं।

और क्या बोले उपमुख्यमंत्री?

उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने कहा, कि गरीब और श्रमिक वर्ग के हित को ध्यान में रखते हुए कोविड-19 के इस दौर में दिल्ली सरकार ने यह अहम और बड़ा कदम उठाया है। सरकार के इस कदम का लाभ लिपिक और सुपरवाइजर वर्ग के कर्मचारियों को भी मिलेगा। उपमुख्यमंत्री बोले, असंगठित क्षेत्र के ऐसे श्रमिकों को महंगाई भत्ते पर रोक नहीं लगाई जा सकती, जिन्हें केवल न्यूनतम वेतन मिलता है। इसी के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने महंगाई भत्ते को जोड़कर नए न्यूनतम वेतन की घोषणा की है।

aman

aman

Next Story