Top

Earthquake: आधे घंटे में दो बार भूकंप का झटका, इन राज्यों में थर्राई धरती

Earthquake : देश के दो राज्यों में आधे घंटे के अंदर भूकंप आया। इसमें अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर का नाम शामिल हैं। पहले अरुणाचल प्रदेश में भूकंप के झटके को महसूस किया गया, जिसकी तीव्रता 3.1 दर्ज की गयी।

Network

NetworkNewstrack NetworkShivaniPublished By Shivani

Published on 20 Jun 2021 2:16 AM GMT

Earthquake: आधे घंटे में दो बार भूकंप का झटका, इन राज्यों में थर्राई धरती
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Earthquake : रविवार की सुबह अरुणाचल प्रदेश में धरती की कँपकपाहट को महसूस किया गया। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (NCS) के मुताबिक, अरुणाचल प्रदेश में भूकंप (Earthquake Hits Arunachal Pradesh) आया, इसके बाद मणिपुर में भी भूकंप के झटके को महसूस किया गया। हालांकि देश के दो अलग अलग राज्यों में आये भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर अधिक नहीं थी, ऐसे में किसी तरह के जान माल के नुकसान की खबर नहीं है।

दरअसल, देश के दो राज्यों में आधे घंटे के अंदर भूकंप आया। इसमें अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर का नाम शामिल हैं। पहले अरुणाचल प्रदेश में भूकंप के झटके को महसूस किया गया, जिसकी तीव्रता 3.1 दर्ज की गयी। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक, भूकंप का केंद्र अरुणाचल प्रदेश के पांगिन के उत्तर-उत्तर पश्चिम में रिकॉर्ड किया गया है।

वहीं कुछ ही मिनटों बाद मणिपुर में भूकंप का झटका लगा। जानकारी के मुताबिक, मणिपुर के शिरुई गांव के उत्तर पश्चिम में धरती डगमगाने लगी। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने बताया कि मणिपुर में आये भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने (Richter Scale) पर 3.6 रही। भूकंप आने से इलाके के लोग सहम गए। जिन्होंने झटके को महसूस किया वो घरों से बाहर आ गए। हालंकि भूकंप की तीव्रता कम होने से फिलहाल किसी के भी हताहत होने या किसी तरह के जानमाल के नुकसान की जानकारी नहीं मिल सकी है।

भूकंप आने पर ये करें (Bhukamp Aane Par Kya Karen)

-भूकंप जिस समय आ रहा है और आप घर में हैं तो फर्श पर बैठ जाएं। घर में किसी मजबूत टेबल या फर्नीचर के नीचे बैठकर हाथ से सिर और चेहरे को ढकें।

-सबसे जरूरी की घर के सभी बिजली स्विच को ऑफ कर दें।

-भूकंप के दौरान झटके तेज होने से अगर आप मलबे के नीचे दब जाएं तो किसी रुमाल या कपड़े से मुंह को ढंके।

-मलबे के नीचे खुद की मौजूदगी को जताने के लिए पाइप या दीवार को बजाते रहें, ताकि बचाव दल आपको तलाश सके।

-अगर आपके पास कुछ उपाय ना हो तो चिल्लाते रहें और हिम्मत ना हारें।

भूकंप आने पर ये न करें (Bhukamp Aane Par Kya Na Karen)

-ऐसे में भूकंप के समय अगर आप घर से बाहर हैं तो ऊंची इमारतों और बिजली के खंभों से दूर रहें। और अगर आप गाड़ी चला रहे हो तो उसे रोक लें और गाड़ी से बाहर ना निकलें।

-साथ ही किसी पुल या फ्लाइओवर पर गाड़ी खड़ी ना करें। भूकंप के समय अगर आप घर में हैं तो बाहर ना निकलें।

-आप भूकंप के समय मलबे में दब जाएं, तो माचिस बिल्कुल ना जलाएं। इससे गैस लीक होने की वजह से आग लगने का खतरा हो सकता है।

-भूकंप अगर आ रहा है और आप घर में हैं तो चलें नहीं। सही जगह ढूंढें और बैठ जाएं। घर के किसी कोने में चले जाएं। सबसे ध्यान वाली बात कांच, खिड़कियों, दरवाज़ों और दीवारों से दूर रहें।

-भूकंप के वक्त लिफ्ट के इस्तेमाल बचें। साथ ही कमज़ोर सीढ़ियों का इस्तेमाल न करें। लिफ्ट और सीढ़ियां दोनों ही टूट सकती हैं। तो सतर्क रहें।

-वहीं यदि भूकंप में मलबे में दब जाएं तो ज़्यादा हिले नहीं और धूल ना उड़ाएं। इस बीच आप पैनिक न करें और किसी भी तरह की अफवाह न फैलाएं। खुद के साथ अन्य लोगों का भी ध्यान दें।

Shivani

Shivani

Next Story