Top

देश में हाहाकार: मौतों के बढ़ते आंकड़े, तो लॉकडाउन फिर से लगेगा

पूरे देश में तेजी से बढ़ते मामलों से सरकारें क्या जनता भी खौफ में है। लगातार सामने आ रहे आकड़ों को देखते हुए...

Vidushi Mishra

Vidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 12 April 2021 1:32 AM GMT

देश में हाहाकार: मौतों के बढ़ते आंकड़े, तो लॉकडाउन फिर से लगेगा
X

देश में कोरोना से बेकाबू हालात (फोटो-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: पूरे देश में तेजी से बढ़ते मामलों से सरकारें क्या जनता भी खौफ में है। लगातार सामने आ रहे आकड़ों को देखते हुए लोगों के मन में अब यही सवाल उठ रहा है कि क्या एक बार फिर से पूरे देश में लॉकडाउन लगाया जा सकता है। ऐसे में कोरोना के बेकाबू होते हालातों की वजह से महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली समेत अनेक राज्यों ने आंशिक लॉकडाउन से लेकर नाईट कर्फ्यू लागू किया है। लेकिन इस बीच सोशल मीडिया पर ये सवाल उठ रहा है कि क्या देश में फिर से लॉकडाउन लगाने की तैयारी तो नहीं हो रही है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बढ़ते मामलों पर चिंता जाहिर करने के साथ साफ शब्दों में कहा है कि फिलहाल संपूर्ण लॉकडाउन की जरूरत नहीं है। इसके साथ ही पीएम मोदी ने नाईट कर्फ्यू का भी समर्थन किया है।

महाराष्ट्र का हाल

देश का वो राज्य जहां सबसे ज्यादा हालात खराब हैं वो महाराष्ट्र है। यहां मिनी लॉकडाउन की शर्तों में 'गैर जरूरी' संस्थानों को बंद रखने का आदेश दिया गया है। साथ ही शनिवार और रविवार को पूर्ण लॉकडाउन का आदेश दिया गया है।


ऐसे में महाराष्ट्र के मंत्री विजय वडेट्टीवार ने संकेत ये भी दिए हैं कि राज्य में तीन हफ्ते का कड़ा लॉकडाउन लगाया जा सकता है। हालात बीते साल की तरह हो रहे हैं, ऐसे में प्रवासी मजदूरों का पलायन भी शुरू हो चुका है। वहीं भिवंडी और वसई इंडस्ट्रियल स्टेट में कामकाज ठप पड़ने के बाद मजदूरों के पलायन की बात आ रही है।

मध्यप्रदेश का हाल

अब मध्यप्रदेश में कोविड-19 के बढ़ते मामलों की वजह से पांच जिलों रतलाम, बैतूल, कटनी, खरगोन एवं छिंदवाड़ा में सात से नौ दिनों का संपूर्ण लॉकडाउन लागू करने का ऐलान किया गया है। भोपाल शहर के कोलार क्षेत्र में शुक्रवार शाम छह बजे से नौ दिन का लॉकडाउन लगाया जाएगा।

इसके साथ ही दमोह को छोड़कर प्रदेश के सभी नगरीय क्षेत्रों में शुक्रवार शाम छह बजे से सोमवार सुबह छह बजे तक 60 घंटे तक लॉकडाउन और समस्त नगरीय क्षेत्रों में आठ अप्रैल से रात 10 बजे से लेकर सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू लगा रहेगा।


छत्तीसगढ़ का हाल

छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस संक्रमण के तेजी से सामने आ रहे मामलों को देखते हुए राजनांदगांव जिला प्रशासन ने जिले में 10 अप्रैल से 19 अप्रैल तक लॉकडाउन की घोषणा की है। वहीं इससे पहले राज्य के रायपुर और दुर्ग जिले में भी लॉकडाउन की घोषणा की गई थी। छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटों के दौरान 10,652 नए लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में नाइट कर्फ्यू लगने के बाद से ही यहां के मजदूरों को अब दोबारा लॉकडाउन का डर सता रहा है। जिसकी वजह से बसों, ट्रेनों और आरक्षण केंद्रों पर अचानक भीड़ बढ़ गई है। इसके साथ ही, कंस्ट्रक्शन कंपनियों, सिक्युरिटी एजेंसियों जैसी जगहों पर काम करने वाले श्रमिक छुट्टियों की एप्लिकेशन लगा रहे हैं।

ऐसे में कॉन्ट्रैक्टर्स काउंसिल ऑफ इंडिया ने श्रमिकों से अपील की है वे नाइट कर्फ्यू को लेकर डरे नहीं। कोरोना को रोकने का इलाज अब राजधानी में उपलब्ध है। वैक्सीनेशन की व्यवस्था यहां काफी बेहतर है। इसलिए पलायन की बजाय श्रमिक इस समय वैक्सीनेशन करवाएं।

यूपी का हाल

उत्तर प्रदेश के हाल देखे तो तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए राजधानी लखनऊ, वाराणसी और कानपुर में बृहस्पतिवार रात से नाइट कर्फ्यू लगाने की घोषणा कर दी गई है। ऐसे में नोएडा और गाजियाबाद में भी नाइट कर्फ्यू के आदेश जारी कर दिए हैं। जो रात 10 से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story