Top

Coronavirus: भारत को झटका, US में कोवैक्सीन को नहीं मिली आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी

Corona Vaccine: FDA ने भारत बायोटेक के टीके कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल के आवेदन को खारिज कर दिया है।

Network

NetworkNewstrack NetworkShreyaPublished By Shreya

Published on 11 Jun 2021 9:55 AM GMT

Coronavirus: भारत को झटका, US में कोवैक्सीन को नहीं मिली आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी
X

कोवैक्सीन (कॉन्सेप्ट फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

India made Corona Vaccine Covaxin: स्वदेशी वैक्सीन निर्माता कंपनी भारत बायोटेक (Bharat Biotech) को अमेरिका से तगड़ा झटका लगा है। अमेरिका ने भारत की स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सीन (Covaxin) के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी नहीं दी है। अभी यूएस में कोवैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल के लिए भारत बायोटेक को थोड़ा और इंतजार करना पड़ेगा।

दरअसल, अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) की ओर से स्वदेशी वैक्सीन निर्माता कंपनी भारत बायोटेक के टीके कोवैक्सीन (Covaxin) के इमरजेंसी इस्तेमाल के आवेदन को खारिज कर दिया गया है। यह भारत के लिए झटका इसलिए भी है क्योंकि कोवैक्सीन पूरी तरह से स्वदेशी कंपनी है। साथ ही भारत की ओर से वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन से भी इस वैक्सीन की मान्यता के लिए अर्जी दी गई है।

ओक्यूजेन ने मांगी थी इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी

FDA द्वारा इमरजेंसी इस्तेमाल के आवेदन को खारिज किए जाने के बाद भारत बायोटेक (Bharat Biotech) को अमेरिका में अपनी वैक्सीन लॉन्च करने के लिए थोड़ा और इंतजार करना होगा। जानकारी के लिए आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले भारत बायोटेक के US पार्टनर ओक्यूजेन (Ocugen) ने कोवैक्सीन के लिए एफडीए (FDA) के पास मास्टर फाइल भेजकर इस वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मांगी थी।

भारत के इस अभियान को लग सकता है झटका

वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के शीर्ष सलाहकार डॉ. एंथनी फाउची ने पहले भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन के प्रभावी होने की बात को स्वीकार किया था, लेकिन फिलहाल वैक्सीन को देश की ओर से आपतकालीन इस्तेमाल नहीं दिया गया है। वहीं, अब आशंका जताई जा रही है कि यूएस के इस कदम से भारत को उस अभियान को झटका लग सकता, जिसके तहत स्वदेशी वैक्सीन को WHO से मान्यता दिलवाने की कोशिश में है।

FDA (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

एक और परीक्षण की मांग कर रहा अमेरिका

दरअसल, अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) ने भारत बायोटेक को एक और अतिरिक्त क्लिनिकल ट्रायल शुरू करने के लिए कह रहा है, जिससे कंपनी एक बायोलॉजिकल लाइसेंस आवेदन (BLA) के लिए फाइल कर सके, जो कि एक पूर्ण मंजूरी के लिए जरूरी है। एफडीए ने सिफारिश की थी कि ऑक्यूजेन वैक्सीन के इमरजेंसी यूज ऑथोराइजेशन आवेदन की बजाय बीएलए पर ध्यान दे।

अमेरिका में कोवैक्सीन लगाने के लिए प्रतिबद्ध है ओक्यूजेन

वहीं, ओक्यूजेन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉक्टर शंकर मुसुनुरी का कहना है कि भले ही वैक्सीन लाने में देरी होगी लेकिन हम अमेरिका में कोवैक्सीन को लाने में प्रतिबद्ध हैं। आपको बता दें कि ओक्यूजेन अमेरिका की एक बायोफार्मा कंपनी है, जो हैदराबाद स्थित बायोटेक के साथ अमेरिकी बाजार के लिए कोवैक्सीन बनाने का काम करने में जुटी है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story