×

IAS officer Amit Khare: कौन हैं PM के नए सलाहकार IAS अधिकारी अमित खरे, जाने विस्तार से

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के सलाहकार बने IAS अधिकारी अमित खरे के बारे में जाने न्यूजट्रैक के साथ।

Network

NetworkNewstrack NetworkDeepak KumarPublished By Deepak Kumar

Published on 13 Oct 2021 5:24 AM GMT

IAS officer Amit Khare: कौन हैं PM के नए सलाहकार IAS अधिकारी अमित खरे, जाने विस्तार से
X

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के सलाहकार बने IAS अधिकारी अमित खरे।

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बहुचर्चित चारा घोटाले का खुलासा करने वाले 1985 बैच के IAS अधिकारी अमित खरे (Kaun Hai IAS officer Amit Khare) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi Ke Salahkar) का सलाहकार नियुक्त किया गया है। कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने भारत सरकार के सचिव के पद और वेतनमान पर प्रधानमंत्री कार्यालय में प्रधानमंत्री के सलाहकार के रूप में खरे की नियुक्ति को अनुबंध के आधार पर शुरू में 2 साल की अवधि के लिए मंजूरी दी है। अमित खरे (IAS officer Amit Khare) हाल ही में 30 सितंबर को सचिव (उच्च शिक्षा) के पद से रिटायर हुए थे. अब पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi News) के सलाहकार के रुप में उन्हें नई जिम्मेदारी मिली है।


वहीं, अमित खरे (IAS officer Amit Khare) अपने स्पष्ट निर्णय को लेकर अपनी खास पहचान बनाई है। आइए न्यूजट्रैक के साथ जानते हैं पीएम के नए सलाहकार अमित खरे (IAS officer Amit Khare) से जुड़ी अन्य खास बातें…

अमित खरे प्रारंभिक जीवन (IAS Amit Khare Ka Jivan Parichay)

अमित खरे (IAS officer Amit Khare Career Wikipidia In Hindi) का जन्म 14 सितंबर 1961 को झारखण्ड (Jharkhand) राज्य में उत्तर भारतीय कायस्थ परिवार में हुआ था और उन्होंने 1977 में केंद्रीय विद्यालय, हिनू (झारखंड) से स्कूली शिक्षा प्राप्त की और फिर सेंट स्टीफंस कॉलेज, दिल्ली से ऑनर्स के साथ स्नातक की पढ़ाई पूरी की। उनका एक बड़ा भाई अतुल खरे है, जो भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी हैं।


शारीरिक आँकड़े (IAS Amit Khare Physical Statistics)

IAS Amit Khare - ऊंचाई- 165 CM, 5'.5"

IAS Amit Khare - आंखों का रंग- गहरा भूरा

ऐसा रहा है करियर (IAS Amit Khare Ka Career)

36 साल के अपने करियर में अमित खरे (IAS officer Amit Khare wiki)ने भारत सरकार के अलावा झारखंड और बिहार सरकार में महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभाईं। उन्होंने कई कार्यकालों के लिए राज्य प्रारंभिक शिक्षा सचिव के रूप में कार्य किया और केंद्र में मानव संसाधन विकास मंत्रालय में भी काम किया है। उन्होंने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को पेश करने में मदद की, जिसे जुलाई 2020 में कैबिनेट द्वारा अनुमोदित किया गया था। उन्होंने झारखंड के राज्यपाल वेद मारवाह के प्रमुख सचिव और कलेक्टर और डीएम, पटना के रूप में भी काम किया है। उन्होंने सूचना और प्रसारण मंत्रालय में सचिव के रूप में भी कार्य किया। दिसंबर 2019 में, उन्होंने स्कूली शिक्षा के अतिरिक्त प्रभार के साथ सचिव, शिक्षा मंत्रालय (उच्च शिक्षा विभाग) के रूप में कार्यभार ग्रहण किया।


अमित खरे की पत्नी (IAS Amit Khare Wife)

अमित खरे (IAS officer Amit Khare Ki Patni) ने 1992 बैच के झारखंड बैच के आईएएस अधिकारी निधि खरे (IAS officer Nidhi Khare Family) से शादी की है। निधि वर्तमान में झारखंड सरकार (Jharkhand government) के झारखंड के कई विभागों में महत्वपूर्ण जिम्मेवारी निभा चुकी हैं। वर्तमान में वह केंद्रीय उपभोक्ता मामले के मंत्रालय में अपर सचिव हैं।


उल्लेखनीय योगदान

36 साल के अपने करियर में आइएएस अधिकारी अमित खरे (IAS officer Amit Khare kaun hai) ने भारत सरकार के अलावा झारखंड और बिहार सरकार में महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभाईं। बिहार-कैडर के आईएएस अधिकारी अमित खरे (IAS officer Amit Khare ki post) 1996 में पश्चिमी सिंहभूम जिले के उपायुक्त थे, जब उन्हें कुख्यात चारा घोटाला मिला, जिसमें बिहार सरकार ने कई सालों तक 940 करोड़ रुपये का गबन किया गया। इसके कारण जगन्नाथ मिश्रा (Jagannath Mishra) और लालू प्रसाद यादव (Lalu Parsad Yadav)को जेल जाना पड़ा। अन्य दोषियों में चाईबासा के पूर्व डीएम, आईएएस अधिकारी सजल चक्रवर्ती शामिल हैं।


वहीं, आइएएस अधिकारी अमित खरे (IAS officer Amit Khare Jharkhand) झारखंड के प्रथम वाणिज्यकर आयुक्त भी थे। उन्होंने बाद में शिक्षा, वित्त व विकास आयुक्त के अलावा राज्यपाल के प्रधान सचिव का भी पदभार संभाला। वे केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर गए और वहां उनके नेतृत्व में ही देश की नई शिक्षा नीति-2020 लागू हुई। वे केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण सचिव के अतिरिक्त प्रभार में भी रहे। इस दरम्यान उन्होंने झारखंड में दूरदर्शन सहित कई सैटेलाइट चैनल को भी लांच किया।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story