×

हॉटलाइन से अब बॉर्डर पर बात कर सकेंगे भारत और चीनी सेना

हॉटलाइन की स्थापना 1 अगस्त को पीएलए दिवस पर हुई है। इससे दोनों देशों के सेना आपस में बातचीत कर सकेंगे...

Network

NetworkNewstrack NetworkRagini SinhaPublished By Ragini Sinha

Published on 1 Aug 2021 3:44 PM GMT

Hotline established between India and China.
X

भारत और चीन के बीच हॉटलाइन स्थापित की गई (सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध के बीच कोंगरा ला, उत्तरी सिक्किम में भारतीय सेना और तिब्बती स्वायत्त क्षेत्र के खंबा द्ज़ोंग में पीएलए के बीच एक हॉटलाइन स्थापित की गई है। इस हॉटलाइन को स्थापित करने का मुख्य उद्देश्य दोनों देशों के बीच सीमाओं पर विश्वास और सौहार्दपूर्ण संबंधों की भावना को आगे बढ़ाना है। हॉटलाइन की स्थापना 1 अगस्त को पीएलए दिवस पर हुआ है।

दोनों देशों के बीच यह छठीं हॉटलाइन

भारत और चीन के बीच यह छठवीं हॉटलाइन स्थापित की गई है। इससे पहले पूर्व लद्धाख में दो, सिक्किम में एक और एक अरुणाचल प्रदेश में दोनों देशों की सेनाओं के बीच हॉट लाइन स्थापित की गई है।

हॉटलाइन विशेष फोन सेवा है

बता दें कि हॉटलाइन एक तरह की विशेष फोन सेवा हैं, जिसमें एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को सुरक्षित तरीके से जोड़ा जाता है। इसमें कोई नंबर डायल नहीं करना पड़ता है। रिसीवर उठाते ही संबंधित व्यक्ति से सीधे बातचीत हो जाती है। बातचीत करने की यह काफी सुरक्षित प्रणाली है। आमतौर पर सेना या फिर किसी देश के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति को यह सुविधा मिलती है।

दोनों देशों के सैन्य कमांडरों के बीच चर्चा

बता दें कि 9 घंटे तक चली इस वार्ता में पूर्वी लद्दाख में तनाव खत्म करने को लेकर दोनों देशों के सैन्य कमांडरों के बीच चर्चा हुई है। पूर्वी लद्दाख में एलएसी के पास उभरे विवाद के बाद से भारत और चीन के सैनिकों में संघर्ष के कारण सीमा पर स्थिति काफी तनावपूर्ण है। इस तनाव को कम करने के लिए अब तक कई दौर की वार्ता हो चुकी है, जिसके बाद फिलहाल एलएसी के पास शांति तो है लेकिन तनाव कम नहीं हुआ है।

दोनों देशों के बीच कई बार झड़प

भारत और चीन के बीच एलएसी पर पिछले साल अप्रैल से सैन्य गतिरोध जारी है। दोनों पक्षों के सैनिकों के बीच कई बार झड़प भी हो चुकी है। दोनों पक्षों के बीच कई राउंड की वार्ता भी हुई, लेकिन अभी भी गतिरोध जारी है।

Ragini Sinha

Ragini Sinha

Next Story