×

पाकिस्तान पर तगड़ा वार: रो रहे दिग्गज यूट्यूबर, डिजिटल स्ट्राइक से हिल उठा दुश्मन देश

Digital Strike Pakistan: एक साल के भीतर भारत सरकार ने फिर पाकिस्तान के ऊपर डिजिटल स्ट्राइक करते हुए 35 यूट्यूब चैनलों समेत 7 सोशल मीडिया अकाउंट पर प्रतिबंध लगा दिया है।

Bishwa Maurya
Published on 21 Jan 2022 2:26 PM GMT
Digital Strike Pakistan
X

Digital Strike Pakistan

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Digital Strike Pakistan: भारत विरोधी अफवाह फैलाने वाले पाकिस्तान पर भारत ने एक बार फिर बड़ा डिजिटल स्ट्राइक (Digital Strike) किया है। भारत सरकार ने इस बार भारत विरोधी कंटेंट चलाने वाले 30 से अधिक पाकिस्तानी यूट्यूब चैनलों को बंद कर दिया है। इसके साथ ही भारत सरकार ने देश विरोधी कंटेंट चलाने वाले दो वेबसाइट ओं को भी बंद कर दिया है। पाकिस्तान पर हुए इस डिजिटल स्ट्राइक के बारे में शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए सूचना प्रसारण मंत्रालय के सचिव अपूर्व चंद्रा ने जानकारी दिया।

पाकिस्तान पर हुए डिजिटल स्ट्राइक पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए सूचना प्रसारण मंत्रालय के सचिव अपूर्व चंद्र (Apurav Chandra) ने बताया कि बहुत से देश विरोधी कंटेंट चलाने वाले वेबसाइट, फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनलों पर आज भारत सरकार ने प्रतिबंध लगा दिया है। इसमें से कई फेसबुक पेज के बहुत ज्यादा संख्या में व्यूज और फॉलोवर्स थें, यह सभी अपने-अपने प्लेटफार्म से भारत विरोधी खबरों को और सूचनाओं को प्रसारित करते थे जिसके कारण भारत सरकार ने इन सभी को बंद कर दिया है।

वहीं इस मामले पर जानकारी देते हुए सूचना प्रसारण मंत्रालय के संयुक्त सचिव विक्रम सहाय (Vikram Sahaye) ने कहा कि भारत विरोधी कंटेंट चलाने वाले 2 टि्वटर अकाउंट, 2 इंस्टाग्राम अकाउंट, 2 फेसबुक अकाउंट और 2 वेबसाइट समेत 35 यूट्यूब चैनलों को शुक्रवार को भारत सरकार ने बंद कर दिया है। यह सभी प्लेटफार्म फर्जी खबरों के सहारे भारत के खिलाफ अंडा चलाते थे इनमें से कुछ प्लेटफार्म पर सीरियस जनरल बिपिन रावत के विषय पर कई फर्जी अफवाह चलाए गए इन सबको देखते हुए इन पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया गया है।

गौरतलब है कि 2021 में भी भारत सरकार ने देश विरोधी कंटेंट चलाने वाले 20 पाकिस्तानी यूट्यूब चैनल और वेबसाइटों पर प्रतिबंध लगा दिया था। उस वक्त आईटी एक्ट की शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए केंद्र सरकार ने इन चैनलों और वेबसाइटों पर प्रतिबंध लगाया था। जिसके लिए सूचना प्रसारण मंत्रालय ने यूट्यूब को लिखित रूप में एक आर्डर दिया था। उस वक्त यह यूट्यूब चैनल राम मंदिर और कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने को लेकर कई तरह के देश विरोधी फर्जी खबर चला रहे थे।

Bishwa Maurya

Bishwa Maurya

Next Story