×

कोरोना महामारी में निभा रहे अहम भूमिका IAF के विमान, पहुंचा रहे ऐसे ऑक्सीजन टैंकर

भारतीय वायुसेना के एन - 32 सैन्य विमान ने कोविड टेस्टिंग उपकरण जम्मू से लेह और जम्मू से कारगिल तक पहुंचा।

Network

NetworkNewstrack Network NetworkShraddhaPublished By Shraddha

Published on 25 April 2021 2:30 AM GMT

भारतीय वायुसेना ने ऑक्सीजन टैंकर पहुंचाया
X

फाइल फोटो (सौजन्य से सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : कोरोना महामारी (Corona epidemic) के दौरान भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) भी अपनी अहम भूमिका निभा रहा है। आपको बता दें कि शनिवार की सुबह 2 बजे भारतीय वायुसेना का एक सी- 17 ग्लोबमास्टर विमान उच्च क्षमता के क्रायोजैनिक ऑक्सीजन टैंकर (Oxygen tanker) लेने के लिए हिंडन एयर बेस (गाजियाबाद ) से सिंगापुर के चांगी अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट (Changi International Airport) के लिए रवाना हुआ। आपको बता दें कि यह विमान सुबह 7 बजकर 45 मिनट पर सिंगापुर पहुंच गया।

सी- 17 ग्लोबमास्टर विमान 4 खाली क्रायोजैनिक ऑक्सीजन कंटेनर लोड करने के बाद यह विमान सिंगापुर से पश्चिम बंगाल के पानागढ़ एयरबेस पर शाम 4 : 30 बजे तक पहुंच गया। आपको बता दें कि इन टैंकरों को ऑक्सीजन से भरकर देश के अलग -अलग हिस्सों में भेजा जाएगा। बताया जा रहा है कि भारतीय वायुसेना का एक और सी - 17 विमान हिंडन बेस से सुबह 8 बजे पुणे एयरबेस के लिए रवाना हो गया।

कोरोना महामारी में भारतीय वायुसेना भी अपना अहम भूमिका निभा रही है। आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना के एक चिनूक हेलीकॉप्टर और एक एन - 32 सैन्य विमान ने कोविड टेस्टिंग उपकरण जम्मू से लेह और जम्मू से कारगिल तक पहुंचाया गया। आपको बता दें कि इस विमानों में बायो सेफ्टी कैबिनेट, सेन्ट्रीफ्यूज और स्टेप्लाइजर्स शामिल थे। बताया जा रहा है कि इन मशीनों को वैज्ञानिकों और औद्योगिक अनुसंधान परिषद द्वारा बनाया गया है।

फाइल फोटो (सौजन्य से सोशल मीडिया)

देश में कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए भारतीय वायुसेना इसमें पेशेवर तरीके से सभी उभरती हुई जरूरतों को पूरा करने के लिए बड़ा कदम उठा रही है। आपको बता दें कि प्राइवेट एयरलाइन्स, स्पाइसजेट ने भी 800 ऑक्सीजन कन्संट्रेटर्स हांगकांग से लेकर कोलकता पहुंचा है। इस ऑक्सीजन कन्संट्रेटर्स को देश के अलग - अलग हिस्सों में भेजा जाएगा।

Shraddha

Shraddha

Next Story