×

Modi Cabinet Expansion: मोदी कैबिनेट में शामिल हुए पुरुषोत्तम रूपाला, परंपरागत वेशभूषा है इनकी पहचान

Modi Cabinet Expansion: गुजरात (Gujarat) से भाजपा के वरिष्ठ नेता पुरुषोत्तम रूपाला (Parshottam Rupala) के अच्छे प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें कैबिनेट में शामिल किया गया है। पुरुषोत्तम रूपाला को मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री का कार्यभार दिया गया।

Network

NetworkNewstrack NetworkSatyabhaPublished By Satyabha

Published on 8 July 2021 12:10 PM GMT

Modi Cabinet Expansion: मोदी कैबिनेट में शामिल हुए पुरुषोत्तम रूपाला, परंपरागत वेशभूषा है इनकी पहचान
X

 पुरुषोत्तम रूपाला फोटो (सोशल मीडिया) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Modi Cabinet Expansion: गुजरात (Gujarat) से भाजपा के वरिष्ठ नेता पुरुषोत्तम रूपाला (Parshottam Rupala) को कैबिनेट मंत्री (Cabinet Minister) बनाया गया है। मोदी सरकार के पहले कैबिनेट विस्तार में पुरुषोत्तम रूपाला के अच्छे प्रदर्शन को देखते हुए मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री (Fisheries, Animal Husbandry and Dairying Ministry) का कार्यभार सौंपा गया।


पुरुषोत्तम रूपाला फोटो (सोशल मीडिया)


66 वर्षीय पुरुषोत्तम रूपाला गुजरात (Gujarat) में कडवा पाटीदार समुदाय से आते हैं। उनका जन्म अक्टूबर 1954 में हुआ था। वह गुजरात के अमरेली के ईश्वरिया गांव के रहने वाले हैं। उन्होंने बीएससी के बाद बीएड की डिग्री हासिल की है। पुरुषोत्तम रूपाला किसानों की आय बढ़ाने के लिए कृषि से संबंधित गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए 2019 में गठित नए मंत्रालय के प्रभारी हैं। कैबिनेट में शामिल होने से पहले रूपाला केंद्रीय मंत्रिमंडल में कृषि राज्य मंत्री थे।

ऐसे हुई राजनीतिक शुरूआत

पुरुषोत्तम रूपाला 80 के दशक में भाजपा (BJP) में शामिल हुए थे। रूपाला का राजनीतिक करियर वर्ष 1991 में परवान चढ़ा। जब वह अमरेली से विधायक चुने गए। गुजरात सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके रूपाला को 2008 में राज्यसभा के लिए चुना गया। उसके बाद 2016 में वह दोबारा राज्यसभा भेजे गए। अब इनके कैबिनेट में शामिल होते ही बीजेपी नेताओं में ये चर्चा है कि पुरुषोत्तम रुपाला लगातार दूसरी बार मोदी सरकार में इसलिए हैं, क्योंकि केंद्र में उनका प्रदर्शन अच्छा रहा है। साथ ही सरकार में एक निरंतरता की जरूरत होती है।

कभी सरकारी स्कूल के प्रधानाचार्य थे

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता पुरुषोत्तम रुपाला एक सरकारी स्कूल के प्रधानाचार्य भी रह चुके हैं। राजनीति में आने से पहले वह 5 साल तक अमरेली नगर निकाय के मुख्य अधिकारी भी रहे। पुरुषोत्तम रुपाला 1988 से 1991 तक अमरेली जिला भाजपा के अध्यक्ष रहे और उन्होंने 1991 से 2002 तक तीन बार अमरेली विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया। रुपाला ने 2002 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के परेश धनानी से हारने के बाद फिर कभी राज्य में चुनाव नहीं लड़ा। उन्हें 2008 में राज्यसभा के लिए पहली बार नामांकित किया गया और वह 2014 तक राज्यसभा के सदस्य रहे। 2016 में उन्हें फिर से गुजरात से राज्यसभा भेजा गया और उन्होंने कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री के तौर पर शपथ ली।

मजाकिया लहजा है पहचान

पुरुषोत्तम रूपाला राज्य में मजाकिया भाषण और परंपरागत वेशभूषा के लिए जाने जाते हैं। उनके भाषणों में स्थानीय भाषा के तमाम शब्द होते हैं। साथ ही मजाकिया लहजा उनकी पहचान है। वो हमेशा पारंपरिक कपड़े पहनते हैं।

Satyabha

Satyabha

Next Story