×

Modi Ki Mann Ki Baat 25 July: पीएम ने दी ओलंपिक खिलाड़ियों का शुभकामनाएं, कारगिल के वीरों को किया नमन

Modi Ki Mann Ki Baat 25 July : नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम के जरीए ओलंपिक खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दी, वहीं कारगिल दिवस पर शहीदों को नमन किया।

Network

NetworkNewstrack NetworkShivaniPublished By Shivani

Published on 25 July 2021 5:57 AM GMT

X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Modi Ki Mann Ki Baat 25 July : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मन की बात कार्यक्रम के जरिये देश को सम्बोधित किया। नरेंद्र मोदी ने उस समय भारत को मन की बात के जरिये सम्बोधित किया है, जब भारतीय खिलाड़ी ओलंपिक से देश का गौरव बढ़ाने की कवायद में जुटे हैं। पीएम मोदी ने टोक्यो ओलम्पिक में शामिल होने वाले खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दी। इसके अलावा पीएम ने 26 जुलाई को होने वाले कारगिल दिवस को लेकर शहीदों को नमन किया।

पीएम मोदी के मन की बात कार्यक्रम का आज 79 वां संस्करण रेडियो पर प्रसारित हुआ। आइये जानते हैं कि पीएम मोदी ने मन की बात में क्या खास कहा (Mann Ki Baat Highlights) ?

पीएम मोदी का संबोधन

नरेंद्र मोदी ने संबोधन की शुरुआत टोक्यो ओलंपिक से की। पीएम ने ओलंपिक में भाग लेने गए भारतीय खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दी। उन्होने लोगों से भारतीय खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाने की अपील भी की। पीएम ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक में भारतीय तिरंगा (National Flag) देखकर पूरा देश रोमांचित हो गया। पीएम ने बताया कि ओलंपिक में जाने से पहले उन्होने खिलाडियों से बातचीत की थी और उनके बारें में जाना।

कारगिल दिवस पर बोले पीएमः

प्रधानमंत्री ने कारगिर वीरों को याद करते हुए उन्हे नमन किया और देशवासियों को याद दिलाया कि कल यानि 26 जुलाई को कारगिल दिवस है। पीएम ने एलान किया कि इस बार कारगिल दिवस अमृत महोत्सव के बीच मनाया जाएगा। उन्होने लोगों से अपील की कि करगिल की गौरवपूर्ण गाथा जरूर पढ़ें।

वोकल फाॅर लोकल का जिक्र:

पीएम ने कहा, 'रोज के काम करते हुए भी हम राष्ट्र निर्माण कर सकते हैं, जैसे, Vocal for local ।हमारे देश के स्थानीय उद्यमियों, कलाकारों, शिल्पकारों, बुनकरों को support करना, हमारे सहज स्वभाव में होना चाहिए।

जल संरक्षण और लाइट हाउस प्रोजेक्ट पर चर्चा

मोदी ने जल संरक्षण के लिए जागरुक करते हुए कहा, मेरा बचपन जहां गुजरा, वहां पानी की हमेशा किल्लत रहती थी। लोग बारिश के लिए तरसते थे, इसलिए पानी की एक-एक बूंद बचाना हमारे संस्कार में शामिल है। ' जन भागीदारी से जल संरक्षण' के मंत्र ने उस जगह की तस्वीर ही बदल दी है। पानी की बर्बाद नहीं करना चाहिए।

पीएम ने T.S Ringphami Young का जिक्र किया जो ये पेशे से Aeronautical Engineer हैं। पीएम ने बताया कि रिंगफामी यंग ने अपनी पत्नी टी.एस. एंजेल के साथ मिलकर सेब की पैदावार की है।

लखीमपुर खीरी में एक अनोखी पहलः


Shivani

Shivani

Next Story