×

बच्चों में दिखा मल्टी ऑर्गन इन्फ्लेमेटरी सिंड्रोम का खतरा, 5 दिनों में मिले 100 से अधिक केस

Multi-Organ Inflammatory Syndrome : पिछले पांच दिनों में बच्चों में MIS- C के 100 से अधिक मामले सामने आए हैं।

Network
Newstrack NetworkPublished By Shraddha
Updated on: 28 May 2021 5:00 AM GMT
बच्चों में दिखा मल्टी ऑर्गन इन्फ्लेमेटरी सिंड्रोम का खतरा, 5 दिनों में मिले 100 से अधिक केस
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Multi-Organ Inflammatory Syndrome : कोरोना महामारी (Corona epidemic) अपने साथ कई और बिमारियों को भी साथ ला रही जो लोगों के लिए काफी घातक साबित हो रहा है। बताया जा रहा है कि इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक इंटेंसिव केयर (Indian Academy of Pediatric Intensive Care) ने अपने डेटा में बताया है कि पिछले पांच दिनों के भीतर उत्तर भारत में बच्चों में मल्टी - ऑर्गन इंफ्लेमेटरी सिंड्रोम (Multi-Organ Inflammatory Syndrome) के 100 से अधिक मामले सामने आए हैं।

कोरोना महामारी का असर बच्चों पर पड़ने की वजह से मल्टी - ऑर्गन इंफ्लेमेटरी सिंड्रोम की इस बीमारी का सामना करना पड़ रहा है। जिसमें 4 साल से लेकर 18 साल के बीच के बच्चों को ज्यादा प्रभावित कर रही है। MIS- C के कुछ दुलर्भ मामले भी सामने आ रहे हैं जिसमें 6 महीने के बच्चे भी प्रभावित हो रहे हैं।

MIS-C किन अंगों को करता है नुकसान

मल्टी - ऑर्गन इंफ्लेमेटरी सिंड्रोम बच्चों में बड़ी तेजी से पाया जा रहा है। इस बीमारी से शरीर के कई अंग प्रभावित हो जाते हैं। सर गंगा राम अस्पताल के वरिष्ठ कंसल्टेंट डॉ. धीरेन गुप्ता ने बताया कि यह MIS-C शरीर के फेफड़े, गुर्दे और मस्तिष्क सहित सभी अंगों को प्रभावित करता है।

क्या है MIS-C के लक्षण

डॉ. धीरेन गुप्ता ने बताया कि मल्टी - ऑर्गन इंफ्लेमेटरी सिंड्रोम में पेट में तेज दर्द, रक्तचाप में अचानक गिरावट, बुखार आना जैसे लक्षण दिखते हैं। इन लक्षणों को समय रहते इलाज करना बेहद जरूरी है। डॉ. ने बताया MIS-C का पहला केस पंजाब में आया उसके बाद दिल्ली और महाराष्ट्र में ऐसे केस आते नजर आए हैं उन्होंने कहा " यह बहुत ही सामान्य घटना है जिसे पिछली बार भी देखा गया था।"

Shraddha

Shraddha

Next Story