×

Monsoon Session: संसद के आठवें दिन विपक्षी दल के नेता करते रहे हंगामा, संसद से बिना चर्चा के पास हुए ये बिल

Monsoon Session: मॉनसून सत्र की कार्यवाही अब तक हंगामेदार रही है, लेकिन इस बीच लोकसभा से बिना चर्चा के 5 बिल और 2 Appropriation Bill पास हुए हैं। तो वहीं राज्यसभा में हंगामे के बीच बिना चर्चा के तीन बिल पारित हुए हैं।

Network

NetworkWritten By NetworkDurgesh BahadurPublished By Durgesh Bahadur

Published on 29 July 2021 7:27 PM GMT

parliament-monsoon-session
X

संसद में आठवें दिन पारित हुए तीन विधेयक, दो लोकसभा तो एक राज्य सभा में (Social Media)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Monsoon Session: मानसून सत्र के आठवें दिन संसद (Parliament) में विपक्ष के हंगामे के बीच लगातार दूसरे दिन कामकाज थोड़ा और आगे बढ़ा। विपक्ष पेगासस जासूसी कांड (Pegasus detective scandal), किसान आंदोलन (Farmer Protest) और कोरोना त्रासदी (Corona Crisis) के मुद्दे पर मुखर है। वहीं विपक्ष (Opposition) के हंगामे का असर दोनों सदनों की कार्यवाही पर पड़ा जिसके बाद राज्यसभा (Rajya Sabha) और लोकसभा ( Lok Sabha) की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई है. दोनों सदनों की कार्रवाही स्थगित होने से पहले लोकसभा में दो व राज्यसभा में एक बिल बिना चर्चा के पारित हुआ।

लोकसभा की कार्यवाही स्थगित होने से पहले भारतीय विमानपत्तन आर्थिक नियामक प्राधिकरण (संशोधन) विधेयक 2021 और अंतरदेशीय पोत विधेयक, 2021 बिना बहस के पारित हो गए। तो वहीं और राज्यसभा में एमएसएमई की मदद के लिए फैक्टरिंग विनियमन (संशोधन) विधेयक को मंजूरी दी गई। जबकि तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठनों का पिछले हफ्ते से ही दिल्‍ली के जंतर-मंतर पर आंदोलन चल रहा है। आज भी किसान विरोध प्रदर्शन के लिए दिल्‍ली के जंतर-मंतर पर पहुंच रहे हैं।

मॉनसून सत्र की कार्यवाही अब तक हंगामेदार रही है, लेकिन इस बीच लोकसभा से बिना चर्चा के 5 बिल और 2 Appropriation Bill पास हुए हैं। सूत्रों के मुताबिक, 9 दिनों में लोकसभा 12 प्रतिशत Productive रही है और लगभग 6 घंटे 35 मिनट ही चल पाई हैं। वहीं, राज्यसभा की बात करें तो 20 जुलाई को COVID-19 पर 6 घंटे से ज्यादा चर्चा हुई थी। राज्यसभा में बाकी दिन हंगामे के कारण बर्बाद हो गए। राज्यसभा सिर्फ़ 23 प्रतिशत productive रही है। राज्यसभा में हंगामे के बीच बिना चर्चा के तीन बिल पारित हुए हैं।

लोकसभा में बिना चर्चा के हुए पास ये बिल -

1- राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी उद्यमिता और प्रबंधन संस्थान विधेयक (The National Institute of Food Technology Entrepreneurship and Management Bill, 2021)

2- फेक्टर विनियमन संशोधन विधेयक (The Factoring Regulation (Amendment) Bill, 2021)

3- दिवाला और दिवालियापन संहिता (संशोधन) विधेयक (The Insolvency and Bankruptcy Code (Amendment) Bill, 2021)

4- The Appropriation (No.3) Bill, 2021

5- The The Appropriation (No.4) Bill, 2021

6- भारतीय विमानपत्तन आर्थिक नियामक प्राधिकरण (संशोधन) विधेयक (The Airports Economic Regulatory Authority of India (Amendment) Bill, 2021)

7- अंतर्देशीय पोत विधेयक (The Inland Vessels Bill, 2021)

राज्यसभा में बिना चर्चा के पारित हुए ये बिल -

1- फेक्टर विनियमन संशोधन विधेयक (Factoring Regulation (Amendment) Bill, 2020)

2- समुद्री सहायता विधेयक (Marine Aids to Navigation Bill, 2021)

3- किशोर न्याय (संशोधन) विधेयक Juvenile Justice (amendment) bill,2021)

बता दें कि विपक्ष पेगासस जासूसी कांड, किसान आंदोलन और कोरोना त्रासदी के मुद्दे पर मुखर है. इन मुद्दों को लेकर दोनों सदन में सबसे ज्यादा हंगामा हुआ है. पेगासस के मुद्दे पर सरकार की ओर से संचार मंत्री जवाब दे चुके हैं, लेकिन विपक्ष दलों के नेता प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से जवाब मांग रहे हैं। इसको लेकर कई बार स्थगन प्रस्ताव का नोटिस भी दिया गया है। पेगासस के मुद्दे पर 14 विपक्षी दल एक साथ आ गए हैं।

Durgesh Bahadur

Durgesh Bahadur

Next Story