×

Pegasus Spyware Case: राहुल गांधी ने मांगा अमित शाह का इस्तीफा, कांग्रेस सांसदों का प्रदर्शन

Pegasus Spyware Case : आज संसद भवन स्थित गांधी प्रतिमा के सामने कांग्रेस के सांसदों ने राहुल गांधी की जासूसी को लेकर विरोध प्रदर्शन किया, राहुल गांधी भी आज पहली बार मीडिया से मुखातिब हुए और गृह मंत्री अमित शाह का इस्तीफा मांगा।

Rahul Singh

Rahul SinghReport Rahul SinghMonikaPublished By Monika

Published on 23 July 2021 9:04 AM GMT

Congress protest spy scandal
X

कांग्रेस सांसदों का प्रदर्शन (फोटो : सोशल मीडिया )

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Pegasus Spyware Case: जासूसी कांड को लेकर संसद से सड़क तक कांग्रेस का संग्राम जारी है, आज संसद भवन स्थित गांधी प्रतिमा के सामने कांग्रेस के सांसदों ने राहुल गांधी की जासूसी को लेकर विरोध प्रदर्शन किया, राहुल गांधी भी आज पहली बार मीडिया से मुखातिब हुए और गृह मंत्री अमित शाह का इस्तीफा मांगा। बता दे कांग्रेस पार्टी पूरे देश में राहुल गांधी की जासूसी को लेकर विरोध जता रही है।

आज संसद सत्र में शामिल होने पहुंच राहुल गांधी ने स्पायवेयर पेगासस द्वारा कथित जासूसी किए जाने को राजद्रोह करार दिया है। संसद परिसर में पत्रकारों से बातचीत में राहुल गांधी ने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह को इस्तीफा देना चाहिए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भूमिका की उच्चतम न्यायालय की निगरानी में जांच होनी चाहिए। कांग्रेसी सांसदों के साथ राहुल गांधी ने शुक्रवार को संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष प्रदर्शन किया।

जासूसी कांड को लेकर कांग्रेस सांसदों का प्रदर्शन (फोटो : सोशल मीडिया )

कांग्रेस सांसदों ने किया विरोध

लोकसभा और राज्यसभा के कांग्रेस सदस्यों ने संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष प्रदर्शन किया। कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी और कांग्रेस के कई अन्य सांसद इस मौके पर मौजूद थे।

कांग्रेस सांसदों का प्रदर्शन (फोटो : सोशल मीडिया )

भाजपा ने आरोपों को किया ख़ारिज

वहीं कांग्रेस के आरोपों को भाजपा ने खारिज कर दिया। पार्टी का कहना है कि यह मामला संसद के मानसून सत्र से पहले जानबूझकर उठाया गया। भाजपा की ओर से कहा गया है कि ये आरोप एक तरह से भारतीय लोकतंत्र की छवि को धूमिल करने का प्रयास हैं।

Monika

Monika

Next Story