×

कैप्टन Amarinder Singh आंदोलनकारी किसानों से बोले- पंजाब को अशांत न करें

पंजाब सीएम कैप्टन ने कहा कि पंजाब राज्य में 113 जगहों पर किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। जो राज्य के हित में बिल्कुल भी सही नहीं हैं। इससे आर्थिक विकास पर सबसे ज्यादा असर होगा।

Network
Newstrack NetworkPublished By Shweta
Published on: 13 Sep 2021 5:39 PM GMT
सीएम अमरिंदर सिंह
X

सीएम अमरिंदर सिंह (फोटोः सोशल मीडिया) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Amarinder Singh: पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने विभिन्न किसान यूनियनों के प्रतिनिधियों से आज यानी सोमवार को केंद्र द्वारा पास किए गए कृषि कानूनों के खिलाफ राज्यभर में विरोध प्रदर्शन न करने की अपील की हैं। वहीं सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि, केंद्र सरकार पर अगर आप दबाव बनाना चाहते हैं तो अपना आंदोलन सिर्फ दिल्ली में करें। पंजाब को अपने इस आंदोलन में अशांत न करें।

बता दें कि कैप्टन सिंह होशियारपुर के चब्बेवाल विधानसभा क्षेत्र के ग्राम मुखलियाना में आज जनसभा को संबोधित किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि, राज्य की पूरी जनता किसानों के साथ एक चट्टान की तरह खड़ी हो। लेकिन बीजेपी के द्वारा पास कृषि कानून बिल के खिलाफ राज्य में विरोध प्रर्शन से बचना होगा।

गौरतलब है कि कृषि बिल के खिलाफ किसान अभी भी आंदोलन कर रहे हैं। हरियाण और पंजाब में भी प्रदर्शन जारी हैं। जिसे देखते हुए पंजाब सीएम कैप्टन ने कहा कि पंजाब राज्य में 113 जगहों पर किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। जो राज्य के हित में बिल्कुल भी सही नहीं हैं। इससे आर्थिक विकास पर सबसे ज्यादा असर होगा।

आपको बता दें कि कैप्टन सिंह ने कृषि कानून के लिए कहा कि यह अकाली दल की मर्जी से ही अमल में लाए गए। और हरसिमरत कौर बादल केंद्रीय मंत्री होते हुए भी केंद्रीय कैबिनेट ने आर्डिनेंस पास किए कर दिए थे। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने भी खेती कानूनों की वकालत की थी। लेकिन जब उनका विरोध शुरू हुआ तो अकाली दल ने अपनी सुर ही बदल लिया। बता दें कि सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि शुरू से ही कांग्रेस ने इस काले कानूना का विरोध किया। जिताने भी किसानों ने आंदोलन के समय अपनी जान गवाए हैं सभी के परिवार को पंजाब सरकार की ओर से 5 लाख रुपए और मरने वाले किसान के परिवार के एक लोग को नौकरी दी जाएगी।

Shweta

Shweta

Next Story