×

Reliance: दुनिया के सर्वश्रेष्ठ नियोक्ताओं की फोर्ब्स सूची में रिलायंस भारतीय कंपनियों में अव्वल

फोर्ब्स रैंकिंग के अनुसार विश्व स्तर पर रिलायंस 52वें स्थान पर है। इस सूची में कुल 750 कॉरपोरेट को स्थान दिया गया है, जिसमें फिलिप्स, फाइजर और इंटेल शामिल हैं।

Network

NetworkReport NetworkDivyanshu RaoPublished By Divyanshu Rao

Published on 14 Oct 2021 1:19 PM GMT

Reliance: दुनिया के सर्वश्रेष्ठ नियोक्ताओं की फोर्ब्स सूची में रिलायंस भारतीय कंपनियों में अव्वल
X

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के मालिक मुकेश अंबानी की तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Reliance: 14 अक्टूबर (भाषा) फोर्ब्स द्वारा जारी 2021 के लिए दुनिया के सर्वश्रेष्ठ नियोक्ताओं की वार्षिक सूची 'फोर्ब्स वर्ल्ड बेस्ट एम्प्लॉयर- 2021' में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) को देश में पहला स्थान दिया गया है।

फोर्ब्स रैंकिंग के अनुसार विश्व स्तर पर रिलायंस 52वें स्थान पर है। इस सूची में कुल 750 कॉरपोरेट को स्थान दिया गया है, जिसमें फिलिप्स, फाइजर और इंटेल शामिल हैं।

सूची में भारतीय स्टेट बैंक को 119वां और लार्सन एंड टुब्रो को 127वां स्थान मिला, जबकि इंफोसिस 588वें और टाटा समूह 746वें स्थान पर रहे। एलआईसी को 504वां स्थान मिला।

यह रैंकिंग एक व्यापक सर्वेक्षण पर आधारित है। जिसमें कर्मचारी अपने नियोक्ता को कई बिंदुओं पर अंक देते हैं।

वैश्विक रैंकिंग में साउथ कोरिया की सैमसंग ने सर्वश्रेष्ठ नियोक्ता होने का खिताब अपने नाम किया। दूसरे से सातवें स्थान पर अमेरिकी कंपनियों का कब्जा है। इसमें आईबीएम, माइक्रोसॉफ्ट, अमेजन, एप्पल, अल्फाबेट और डेल टेक्नालॉजी जैसी कंपनियां शामिल हैं। इसके बाद 8वें नंबर पर हुवावे है, जो शीर्ष 10 में शामिल अकेली चीनी कंपनी है।

फोर्ब्स ने बाजार अनुसंधान कंपनी स्टेटिस्टा के साथ मिलकर विश्व के सर्वश्रेष्ठ नियोक्ताओं की वार्षिक सूची तैयार की है।

रैंकिंग निर्धारित करने के लिए स्टेटिस्टा ने बहुराष्ट्रीय कंपनियों और संस्थानों में काम करने वाले 58 देशों के 1.5 लाख कर्मचारियों का सर्वे किया।

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया)

आरआईएल ने एक बयान में कहा, ''कोविड महामारी के दौरान सबसे बुरे वक्त में यह उपलब्धि हासिल करना महत्वपूर्ण हैं। कोविड के बुरे दौर में रिलायंस ने यह सुनिश्चित किया कि किसी भी कर्मचारी के वेतन में कटौती न की जाए। वह नौकरी की चिंता किए बिना काम कर सके।

रिलायंस ने कहा कि उसने महामारी के दौरान कर्मचारियों के इलाज और उनके परिवार के टीकाकरण का भी पूरा ध्यान रखा गया।

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को इससे पहले 'ग्रेट प्लेस टू वर्क इंस्टिट्यूट' का खिताब भी मिला था और वह लिंक्डइन की शीर्ष कंपनियों की सूची का हिस्सा भी रही है।

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story