×

Narayan Debnath Death: मशहूर कार्टूनिस्ट नारायण देबनाथ का निधन, साहित्य जगत में शोक की लहर

Narayan Debnath Death: हाल ही 2021 में नारायण देबनाथ को भारत के चौथे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कार पद्म श्री से सम्मानित किया जा चुका है।

Rajat Verma
Published on 18 Jan 2022 2:07 PM GMT
Narayan Debnath
X

नारायण देवनाथ की तस्वीर 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Narayan Debnath Death: देश के मशहूर कार्टूनिस्ट नारायण देबनाथ (narayan debnath) का 97 वर्ष की आयु में मंगलवार सुबह कोलकाता के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। नारायण देबनाथ पश्चिम बंगाल राज्य से ताल्लुख रखते हैं।

हाल ही 2021 में नारायण देबनाथ को भारत के चौथे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कार पद्म श्री से सम्मानित किया जा चुका है। पश्चिम बंगाल के एक मंत्री ने बीते सप्ताह ही उन्हें यह पुरस्कार भेंट किया था, दरअसल दिल्ली में आयोजित पुरस्कार समारोह के वक़्त नारायण देबनाथ अस्वस्थ थे तथा कोलकाता के एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। 2021 में पद्म श्री सम्मान प्राप्त होने से पूर्व नारायण देबनाथ को 2013 में बंगबिभूषण और साहित्य अकादमी पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है।

अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया है कि दिग्गज कार्टूनिस्ट नारायण देबनाथ दिल की बीमारी से पीड़ित थे तथा मंगलवार को उनके रक्तचाप में भी उतार-चढ़ाव देखा गया, जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नारायण देबनाथ की मृत्यु का संदेश प्राप्त होने के पश्चात ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। ममता बनर्जी ने अपने इस ट्वीट में लिखा कि-"जानकर बेहद ही दुख हुआ कि प्रख्यात साहित्यकार, चित्रकार, कार्टूनिस्ट और बच्चों की दुनिया के लिए कुछ अमर चरित्रों के निर्माता नारायण देबनाथ नहीं रहे। उन्होंने बंटुल द ग्रेट, हांडा- भोंडा, नॉनटे-फोन्टे, जैसे कई चरित्रों का निर्माण किया, जो दशकों से हमारे दिलों में बसे हुए हैं।"

नारायण देबनाथ की तस्वीर

नारायण देबनाथ लोकप्रिय बंगाली कॉमिक पात्रों - 'बतुल द ग्रेट', 'हांडा भोंडा' और 'नोंटे फोंटे' के निर्माता रहे हैं, जिन्हें सालों से पाठकों का प्यार प्राप्त हुआ। बीते वर्षों में नारायण देबनाथ की कॉमिक स्ट्रिप्स और चरित्रों ने लगभग बीते छह दशकों से लोकप्रियता बटोरी हुई है।

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story