×

UN: आधी आबादी की एक और बड़ी छलांग, यूएन मिशन सर्विस में 25 प्रतिशत महिला पुलिस अधिकारियों का हुआ चयन

भारतीय मिशनों में 69 सदस्यों में से प्रत्येक का अधिकतम तैनाती का कार्यकाल एक साल का होगा।

Krishna Chaudhary
Updated on: 2022-02-16T18:35:38+05:30
Selection of Women Police Officers
X

महिला पुलिस अधिकारियों का चयन (फोटो-सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

New Delhi: संयुक्त राष्ट्र ने महिला सशक्तीकरण की तरफ एक बड़ा कदम उठाया है। शीर्ष सरकारी सूत्रों के हवाले से आई खबर के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र मिशन सेवा-2022-2024 या संयुक्त राष्ट्र चयन सहायता और आकलन टीम (यूएनएसएटी) 2022-2024 के लिए सूचीबद्ध 69 सदस्य-पैनल में पहली बार 25 प्रतिशत से अधिक महिला पुलिस अधिकारियों का चयन किया गया है।

न्यूज एजेंसी एएनआई को गृहमंत्रालय के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि इन 69 सदस्यों में विभिन्न अर्धसैनिक बलों, केंद्रीय पुलिस संगठनों (सीपीओ) और विभिन्न राज्यों के पुलिस अधिकारी 19 महिलाएं हैं। 69 सदस्यीय यह नई योग्य टीम अब संयुक्त राष्ट्र चयन सहायता और मूल्यांकन टीम (UNSAAT) 2022-2024 पैनल का हिस्सा है, और पैनल के सदस्यों को विदेशों में पांच भारतीय मिशनों (Indian missions) में प्रतिनियुक्त किया जाएगा जिसमें साइप्रस, दक्षिण सूडान और माली शामिल हैं।

गृहमंत्रालय के अधिकारी के अनुसार, भारतीय मिशनों में 69 सदस्यों में से प्रत्येक का अधिकतम तैनाती का कार्यकाल एक साल का होगा। इससे पहले, विभिन्न पुलिस बलों के 264 सदस्यों को UNSAAT के लिए नामित किया गया था। 25 जनवरी को केंद्रीय गृहमंत्रालय ने संयुक्त राष्ट्र के अनुरोध के बाद टीम को 150 में अलग कर दिया।

संयुक्त राष्ट्र ने COVID-19 की स्थिति और आगामी चयन सहायता और मूल्यांकन टीम (SAAT) की यात्रा पर इसके संभावित प्रभाव को देखते हुए UNSAAT-2022-2024 उम्मीदवारों की संख्या को 150 तक कम करने का निर्णय लिया।

गृहमंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि गृहमंत्रालय से कुल 150 नामांकित उम्मीदवारों में से केवल 127 को 31 जनवरी और 7 फरवरी के बीच आयोजित मिशन (AMS) के आकलन के लिए सूचित किया गया था। 127 सदस्यों में से दो को अयोग्य घोषित कर दिया गया था- एक COVID के कारण और दूसरा दस्तावेज़ीकरण के दौरान।

अंत में, केवल 125 एएमएस के लिए उपस्थित हुए और 69 को विभिन्न दौर के परीक्षणों को पूरा करने के बाद संयुक्त राष्ट्र मिशन सेवाओं के लिए चुना गया। इस दौरान सभी 69 योग्य पुलिस अधिकारियों को विभिन्न परीक्षणों से गुजरना पड़ा, जिसमें वाहन संचालन, शहरी ड्राइविंग, कंप्यूटर कौशल, योग्यता-आधारित साक्षात्कार और हथियार संचालन शामिल हैं।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story