×

UPSC Helpline Number: अब EWS और पिछड़े वर्गों के कैंडिडेट को नहीं होगी दिक्कत, UPSC लाया टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर

UPSC Helpline Number: संघ लोक सेवा आयोग की ओर से जारी टोल-फ्री नंबर-1800118711 उन उम्मीदवारों की मदद के लिए है, जिन्होंने आवेदन किया है या परीक्षा या भर्ती के लिए अप्लाई करना चाहते हैं।

aman
Report amanPublished By Deepak Kumar
Updated on: 22 Oct 2021 8:27 AM GMT
Union Public Service Commission Economically Weaker Section UPSC released toll free helpline number UPSC ne jari kiya number
X

UPSC लाया टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर। (Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

New Delhi: संघ लोक सेवा आयोग यानी यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग यानी Economically Weaker Section (EWS) और पिछड़े वर्ग के सरकारी नौकरी के इच्छुक अभ्यर्थियों की मदद के लिए एक 'टोल-फ्री हेल्पलाइन' (toll free helpline) शुरू की है। बता दें कि संघ लोक सेवा आयोग की ओर से जारी टोल-फ्री नंबर-1800118711 उन उम्मीदवारों की मदद के लिए है, जिन्होंने आवेदन किया है या परीक्षा या भर्ती के लिए अप्लाई करना चाहते हैं।

इस संबंध में यूपीएससी ने एक बयान जारी कर इसकी जानकारी दी। यूपीएससी ने कहा कि 'यह पहल प्रतियोगियों की समस्याओं का फ्रेंडली तरीके से निपटारे के आयोग के प्रयास का एक हिस्सा है।' ज्ञात हो कि यूपीएससी की यह पहल भारतीय स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में 'आजादी का अमृत महोत्सव' के तहत समारोह का हिस्सा है।

सभी कार्य दिवसों में चालू रहेगा हेल्पलाइन नंबर

आयोग द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक, कार्यालय समय के दौरान सभी कार्य दिवसों में यह हेल्पलाइन नंबर चालू रहेगा। यूपीएससी के आधिकारिक बयान में यह भी कहा गया है, कि 'आयोग ने अनुसूचित जाति Scheduled Caste(एससी), अनुसूचित जनजाति Scheduled Tribe (एसटी), अन्य पिछड़ा वर्ग Other Backward Class (ओबीसी), आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग Economically Weaker Section (ईडब्ल्यूएस) और बेंचमार्क डिसेबिलिटी व्यक्तियों (PwBD) से संबंधित अभ्यर्थियों, जिन्होंने आवेदन किया है या आयोग की परीक्षाओं या भर्तियों के लिए आवेदन करना चाहते हैं, कि सहायता के मकसद से एक हेल्पलाइन, टोल फ्री नंबर 1800118711 शुरू किया है।'

कैंडिडेट फॉर्म भरने जुड़ी ले सकते हैं कोई भी जानकारी

साथ ही साथ आयोग की तरफ से कहा गया है कि 'उपरोक्त श्रेणियों के अभ्यर्थी किसी भी परीक्षा या भर्ती के आवेदन पत्र को भरने में किसी भी कठिनाई का सामना कर रहे हैं या आयोग की परीक्षाओं/भर्ती से संबंधित किसी भी फॉर्म को भरने के लिए सहायता चाहते हैं तो वे हेल्पलाइन से संपर्क कर सकते हैं।' अभ्यर्थियों की लंबे समय से यह मांग थी कि यूपीएससी की तरफ से ऐसी कोई व्यवस्था की जाए, जिससे फॉर्म भरने संबंधी किसी भी समस्या का निदान आसानी से किया जा सके। इसी के तहत आयोग का यह कदम उन उम्मीदवारों के लिए मददगार साबित होगा, जिन्हें फॉर्म भरते वक्त कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ता था।

क्या है संघ लोक सेवा आयोग

संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission) भारत के संविधान द्वारा स्थापित एक संवैधानिक निकाय है। यूपीएससी, भारत सरकार के लोक सेवा पदाधिकारियों की नियुक्ति के लिए परीक्षाओं का संचालन करता है। संविधान के भाग-14 के अंतर्गत अनुच्छेद 315-323 में एक संघीय लोक सेवा आयोग और राज्यों के लिए राज्य लोक सेवा आयोग के गठन का प्रावधान है। जानकारी के लिए बता दें कि प्रथम लोक सेवा आयोग की स्थापना 1 अक्टूबर, 1926 को हुई थी। भारत की आजादी के बाद संवैधानिक प्रावधानों के तहत 26 अक्टूबर, 1950 को लोक आयोग की स्थापना हुई। इस नए स्थापित लोक सेवा आयोग को 'संघ लोक सेवा आयोग' नाम दिया गया।

कौन होते हैं आयोग के सदस्य

बता दें कि आयोग के सदस्य राष्ट्रपति द्वारा नियुक्त होते हैं। कम से कम आधे सदस्य किसी लोक सेवा के सदस्य (कार्यरत या अवकाश प्राप्त) होते हैं। इनके लिए न्यूनतम 10 वर्षों का अनुभव प्राप्त होना अनिवार्य है। इनका कार्यकाल 6 वर्षों या 65 वर्ष की उम्र (जो भी पहले आए) तक का होता है। ये कभी भी अपना इस्तीफा राष्ट्रपति को सौंप सकते हैं। इससे पहले राष्ट्रपति इन्हें पद की अवमानना या अवैध कार्यों में लिप्त होने के लिए बर्खास्त कर सकता है।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story