Top

कस्टम विभाग ने तीन ट्रकों से करोड़ों रुपये का माल पकड़ा

टीम ने वाराणसी की सीमा में दो ट्रक और कानपुर- इलाहाबाद जी.टी. रोड पर एक ट्रक ज़ब्त किया। इन ट्रकों से लगभग 4 करोड़ के माल  ज़ब्त किया गया।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 22 May 2019 5:53 PM GMT

कस्टम विभाग ने तीन ट्रकों से करोड़ों रुपये का माल पकड़ा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : कस्टम्स निवारक उत्तर-प्रदेश और उत्तराखंड ने आयुक्त वेद प्रताप शुक्ला के निर्देषन में पिछले कुछ दिनों में अभूतपूर्व कार्यवाही की । जिसमें प्रदेश के विभिन्न भागों से तस्करी का सामान ले जाते हुए कंटेनर वाले तीन ट्रकों को ज़ब्त किया गया। इन सभी ट्रकों की सूचना विभाग को अपने ख़ुफ़िया सूत्रों के माध्यम से पहले ही प्राप्त हो गई थी ।

जिसके मद्देनजर रखते हुए टीम ने वाराणसी की सीमा में दो ट्रक और कानपुर- इलाहाबाद जी.टी. रोड पर एक ट्रक ज़ब्त किया। इन ट्रकों से लगभग 4 करोड़ के माल ज़ब्त किया गया।

ये भी देखें : उत्साहित भाजपा नेताओं ने जश्न के लिए दिये लड्डू और मिठाइयों के आर्डर

इन ट्रकों में से मुख्यत: विभिन्न देशों, यथा चीन, बांग्ला देश, जापान इंडोनेशिया आदि, से तस्करी कर लाये गए कपड़े (पैंट्स, जीन्स, टी-शर्ट्स महिलाओं और बच्चो के विभिन्न प्रकार के कपड़े), पटाखे, प्रिंटिंग फ्यूज बेल्ट, ड्रम कलर, कलर डेवलपर, हेयर स्प्रे और विभिन्न प्रकार के इलेक्ट्रोनिक सामान बरामद किये गए।

ऐसे लाते थे सामान -

ये सभी ट्रक कोलकाता से दिल्ली की तरफ जा रहे थे। ऐसा माना जाता है कि दिल्ली का चांदनी चौक और पहाड़ गंज इस प्रकार के तस्करी के सामानों का एक बड़ा बाज़ार है। कोलकाता और उत्तर-पूर्व के राज्य इस समय बांग्लादेश और म्यांमार के रास्ते से होने वाली तस्करी के बड़े अड्डे बने हुए हैं।

जब जी. टी. रोड पर इलाहाबाद की तरफ से आते हुए ट्रक को डिप्टी कमिश्नर चंचल कुमार तिवारी के नेतृत्व में रोक कर जांच आरम्भ की गई तो ट्रक के बाहर की तरफ कोई संदिग्ध वस्तु नज़र नहीं आई। किन्तु कस्टम्स टीम को पूरा विश्वास था कि सूचना पूरी तरफ से पक्की है । और जब थोड़ा और गहराई से जांच करने के उद्देश्य से ट्रक में किसी प्रकार रास्ता बनाते हुए निरीक्षक वीरेन्द्र कुमार, के. के. यादव, हवलदार राम निवास राय और चालक भीम सिंह गुरुंग ट्रक के सबसे उंचे हिस्से की तरफ पहुंचकर अन्दर देखने की कोशिश करने लगे।

ये भी देखें : केन्द्र में प्रसपा के बिना नहीं बनेगी कोई भी सरकार-शिवपाल

तब उन्हें तस्करी के सामान की एक बड़ी खेप देख कर सबकी आंखें सकते में आ गए। तब उन्हें यह समझ में आया कि भारतीय सामान की आड़ में विदेशी सामान को छुपा कर ले जाया रहा था। अकेले इसी ट्रक से पौने दो करोड़ से अधिक का सामान ज़ब्त किया गया।

डिप्टी कमिश्नर चंचल कुमार तिवारी के नेतृत्व में की गई इस कार्यवाही में निरीक्षक वीरेन्द्र कुमार का विशेष योगदान रहा।

टीम में अधीक्षक राजेश शर्मा, जगत सिंह राना, निरीक्षक के. के. यादव., शिवम् बाजपेई, शशांक त्रिपाठी, हवलदार राम निवास राय, चालक भीम सिंह गुरुंग का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story