Top

पुलिस की कार्यशैली से आहत पत्रकार ने डीएम को प्रार्थना पत्र लिखकर मांगी इच्छा मृत्यु

उत्तर प्रदेश के बांदा से सनसनीखेज मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक यहां एक स्थानीय पत्रकार ने दबंग ग्राम प्रधान से परेशान होकर बांदा डीएम से इच्छा मृत्यु की अनुमति मांगी है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 28 May 2019 1:02 PM GMT

पुलिस की कार्यशैली से आहत पत्रकार ने डीएम को प्रार्थना पत्र लिखकर मांगी इच्छा मृत्यु
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बांदा: उत्तर प्रदेश के बांदा से सनसनीखेज मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक यहां एक स्थानीय पत्रकार ने दबंग ग्राम प्रधान से परेशान होकर बांदा डीएम से इच्छा मृत्यु की अनुमति मांगी है। पीड़ित ने पुलिस की कार्यशैली पर भी सवालिया निशान लगाते हुए आरोप लगाया है कि पुलिस भी आरोपियों का ही साथ दे रही हैं। वहीं प्रार्थनापत्र मिलते ही डीएम ने तत्काल सीओ नरैनी को जांच सौंप दी है।

यह भी पढ़ें,,, रजनीकांत ने की PM मोदी की तारीफ, इन पूर्व प्रधानमंत्रियों से की तुलना

जानिए पूरा मामला-

मामला बांदा की नरैनी थाने के ग्राम पुकारी का है। जानकारी के मुताबिक यहां के निवासी राम किशोर उपाध्याय ने डीएम बांदा को प्रार्थना पत्र देकर इच्छा मृत्यु की मांग की है। पीड़ित के मुताबिक वह स्थानीय तौर पर पत्रकारिता करता है और उसने कुछ समय पहले गंदगी को लेकर एक खबर प्रकाशित की थी। जिसके बाद दबंग ग्राम प्रधान रामबालक त्रिपाठी के पुत्र संजय ने उसे 2 अप्रैल को धारदार ब्लेड मारकर घायल कर दिया था और प्रार्थी का मोबाइल छीन कर उसको गाली गलौज कर जान से मारने की धमकी देकर चला गया था। इसकी शिकायत उसने कोतवाली नरैनी में भी की थी और पुलिस ने उसका मेडिकल परीक्षण कराकर 394 की धारा में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया था।

यह भी पढ़ें,,, मथुरा:‘राम-राम’ का जवाब न देने पर युवक ने विदेशी श्रद्धालु को चाकू मार दिया

पुलिस आरोपियों से समझौता करने का दबाव बना रही है

वहीं पीड़ित राम किशोर का कहना है कि इस मामले की जांच नरैनी थाना क्षेत्र के करतल पुलिस चौकी एस आई अभिषेक सिंह कर रहे हैं। लेकिन वह आरोपियों पर कार्रवाई करने की बजाय उल्टा उसको डरा धमका कर सुलह का दबाव बना रहे हैं। जबकि दबंग आरोपी रोजाना उसके साथ अभद्र बर्ताव कर रहा है और मुकदमा वापस न लेने पर जान से मारने की धमकी दे रहा है। पीड़ित का कहना है कि पुलिस की कार्यशैली से आहत होकर ही उसने डीएम बांदा को प्रार्थना पत्र देकर इच्छा मृत्यु की मांग की है।

यह भी पढ़ें,,, बिजनौर में बसपा नेता और उनके भांजे की गोली मारकर हत्या

डीएम ने दिए जांच के आदेश

डीएम को दिए पत्र में पीड़ित ने लिखा है कि वह पुलिस के उत्पीड़न से परेशान है इसलिए उसने फैसला किया है कि इस जिल्लत भरी जिंदगी से मरना अच्छा है। वही इस मामले में डीएम बाँदा हीरालाल ने बताया कि पीड़ित का इच्छा मृत्यु की मांग से संबंधित प्रार्थना पत्र मिला है और उन्होंने तत्काल सीओ नरैनी को जांच सौंपी है, जांच रिपोर्ट के आधार पर आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी वह चाहे कितना ही रसूखदार क्यों ना हो।

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story