Top

मेरठ: पुलिस ने शोरूम कर्मचारी विक्रम हत्याकांड का किया ख़ुलासा, 5 आरोपी गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के मेरठ जोन एडीजी प्रशांत कुमार के नेतृत्व में बागपत जनपद की थाना बड़ौत पुलिस ने शनिवार को बावली रोड़ स्थित शोरूम में हुई कर्मचारी विक्रम की हत्या का आखिरकार खुलासा कर दिया।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 25 May 2019 4:02 PM GMT

मेरठ: पुलिस ने शोरूम कर्मचारी विक्रम हत्याकांड का किया ख़ुलासा, 5 आरोपी गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ जोन एडीजी प्रशांत कुमार के नेतृत्व में बागपत जनपद की थाना बड़ौत पुलिस ने शनिवार को बावली रोड़ स्थित शोरूम में हुई कर्मचारी विक्रम की हत्या का आखिरकार खुलासा कर दिया। पुलिस के अनुसार लूट के विरोध में ही विक्रम की हत्या को अंजाम दिया गया था । वहीं आज एसपी ऑफिस में एडीजी प्रशांत कुमार से मिलने आई मृतक विक्रम की बहन और मां ने आत्मदाह का प्रयास किया। इस दौरान महिलाओं ने काफी देर तक हंगामा भी किया। बाद में पुलिस उन्हे थाने ले गई।

यह भी पढ़ें,,, फिल्म कलाकारों की यूनिट पर सिरफिरे प्रेमी ने चलाई गोली

जानिए पूरा मामला-

एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार के नेतृत्व में बडौत पुलिस ने कई दिनों की कड़ी मशक्कत और मगजमारी के बाद शनिवार को बड़ौत के विक्रम हत्याकांड का खुलासा कर दिया। दरअसल बता दें कि 30 अप्रैल की रात को बागपत के थाना बड़ौत क्षेत्रान्तर्गत कस्बा बड़ौत में हैवल्स गैलेक्सी शोरूम में रात के करीब 9 बजे अज्ञात बदमाश घुस गए थे। इन बदमाशों ने शोरूम मालिक प्रशांत के अलावा मुकेश जैन और कर्मचारी आशीष, अंसार व विक्रम को गन प्वाइंट पर लेकर इनके साथ हाथापाई थी थी और गोली चला दी थी। बदमाशों की गोली से विक्रम की मौत हो गई थी। इसके बाद बदमाशों ने शोरूम मालिक के पिता विजेंद्र सिंह और मां को भी बंधक बनाकर मकान की तिजौरी व दुकान के गल्ले से 5 लाख रूपये और लाइसेंसी रायफल 315 बोर, शोरूम में लगे सीसीटीवी कैमरों की डीबीआर, एडोप्टर, पेन ड्राइव तोड़कर चार मोबाइल फोन लूटकर फरार हो गए थे। रात में ही शोरूम के मालिक प्रशांत ने अज्ञात लोगों के खिलाफ लूट और हत्या की धाराओं में मामला दर्ज करा दिया था। वहीं इसे लेकर विक्रम के परिजनों में आक्रोश व्याप्त हो गया था और उनकी तहरीर पर भी पुलिस ने शोरूम मालिक, उसके दो बेटों और अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया था।

यह भी पढ़ें,,, तेज धूप से बचने के लिए गोमती नदी में मस्ती करते बच्चे, देखें तस्वीरें

मुठभेड़ कर पुलिस ने बदमाशों को दबोचा-

वहीं ये मामला पुलिस के लिए काफी चुनौतीपूर्ण बना हुआ था। और फिर इस घटना के खुलासे के लिए एसपी बागपत एवं अपर पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में टीमें गठित की गई थी। ये टीमें लगातार आरोपियों के गिरेबान तक पहुंचने के लिए प्रयासरत थी। इसी बीच पुलिस को मुखबीर से आरोपियो से संबंधित सूचना मिली। जिसके बाद सूचना के आधार पर शनिवार को क्षेत्राधिकारी रमाला अनुज चौधरी, थानाध्यक्ष दोघट अजय शर्मा मय फोर्स के साथ दौराने चेकिंग दोघट से गांगनौली मार्ग पर पहुंच गए। यहां पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़ हो गई। इस दौरान बदमाशों ने पुलिस पार्टी पर फायरिंग शुरू कर दी गई। पुलिस ने भी आत्मरक्षा हेतु जवाबी फायरिंग की जिसमे पुलिस की गोली लगने से दो बदमाश घायल हो गए। इन बदमाशो के घायल होते ही पुलिस ने पांचों शातिर अपराधियो को धर दबोचा।

पुलिस ने लूट की पूरी नकदी की बरामद-

पकड़े गए आरोपियों के नाम अंकुर उर्फ रीठा, हिमांशु, अंकित उर्फ पुरम, प्रदीप और कार्तिक शर्मा है। पुलिस ने गिरफ्तार बदमाशो के कब्जे से एक रायफल 315 बोर, दो जिंदा व चार खोखा कारतूस, एस एसबीबीएल 12 बोर मय 19 जिंदा व खोखा कारतूस, एक मस्कट 315 बोर एक जिंदा कारतूस, एक पिस्टल 32 बोर मय तीन जिंदा कारतूस, एक तमंचा 315 बो एक खेखा, चार मोबाइल फोन एवं 5 लाख 5 हजार रूपए नकदी सहिंत सोने चांदी के आभूषण, बर्तन, एक बैग मय सिक्के, कागजात, डीबीआर मय हार्ड डिस्क और दो मोटर साइकिल बरामद की गई है।

आरोपियों ने कबूला गुनाह-

वहीं पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल लिया। बदमाशों के मुताबिक 30 अप्रैल को कस्बा बड़ौत में हैवल्स गैलेक्सी शोरूम में हुई हत्या सहित लूट की घटना को उन्होने ही अंजाम दिया था।

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story