तिहाड़ जेल में बंद कैदी, जेल के अंदर ही कर रहा था अपनी प्रेमिका को डेट

जेल के अंदर सजा काट रहे कैदी अगर जेल के अंदर ही डेट करने लगे तो सोचिए क्या होगा? तिहाड़ जेल से कुछ ऐसा ही किस्सा सामने आया है। जहां सजा काट रहा कैदी जेल के ही अंदर अपनी प्रेमिका के साथ डेट कर रहा था।

Published by Shreya Published: August 14, 2019 | 9:30 am
Modified: August 14, 2019 | 9:32 am

जेल के अंदर सजा काट रहे कैदी अगर जेल के अंदर ही डेट करने लगे तो सोचिए क्या होगा? तिहाड़ जेल से कुछ ऐसा ही किस्सा सामने आया है। जहां सजा काट रहा कैदी जेल के ही अंदर अपनी प्रेमिका के साथ डेट कर रहा था। बता दें कि तिहाड़ जेल एशिया के सबसे सुरक्षित जेलों में से एक है।

कैदी हत्या के मामले में तिहाड़ जेल नंबर-2 में सजा काट रहा है और सजा काटने के साथ-साथ बीच-बीच में अपनी प्रेमिका के साथ डेट भी कर लेता था। डेट करने की जगह और कहीं नहीं बल्कि जेल अधीक्षक के दफ्तर में होती थी। अब ये मामला जेल महानिदेशक के पास जाने के बाद जेल महानिदेशक ने जांच के लिए एक कमेटी बनाई है। जिसको जेल के उप महानिरीक्षक राजेश चोपड़ा लीड करेंगे। वहीं कमेटी मामले की जांच में जुट गई है।

यह भी पढ़ें: तत्काल शुरू करे रजिस्ट्रेशन, देरी होने पर अधिकारी जाएंगे जेल

एक रिपोर्ट के मुताबिक जेल महानिदेशक संदीप गोयल ने जानकारी दी है कि जेल के उप महानिरीक्षक राजेश चोपड़ा लीड करेंगे। साथ ही संदीप गोयल ने ये भी कहा कि ये बहुत बड़ी लापरवाही है। जांच के बाद सामने आ जायेगा कि ये किसकी लापरवाही है। दोषी को सख्त से सख्त सजा दी जायेगी।

वहीं शुरुआती जांच में कैदी(हेमंत) को इन सबके पीछे की वजह बताई जा रही है। जिसकी वजह से उसकी प्रेमिका पिछले महीने हेमंत को कईयों बार डेट करने जेल अधीक्षक के दफ्तर पहुंच जाती थी।

खुद को तिहाड़ जेल का बताता था कर्मचारी

बता दें कि युवक ने महिला को खुद की पहचान तिहाड़ जेल के कर्मचारी के रुप में बताया था। कैदी महिला से शादी करना चाहता था। कैदी की महिला से बातचीत एक मैट्रीमोनियल साइड पर हुई थी और उसने अपने पैरोल में मिली छुट्टी के दौरान महिला से मुलाकात की थी। पैरोल के खत्म होने के बाद कैदी वापस जेल चला गया और महिला ने खुद को एनजीओ का सदस्य बताते हुए तिहाड़ जेल में एंट्री की थी।

कैदी न केवल जेल अधीक्षक के दफ्तर में डेट करता था बल्कि उनका कम्प्यूटर भी इस्तेमाल करता था। इन सब के बाद जेल के सुरक्षा इंतेजामों पर सवाल उठ रहे हैं। जांच के लिए बनाई गई कमेटी ये पता लगा रही है कि कहीं कम्प्यूटर से सुरक्षा संबंधी कोई भी जानकारी लीक तो नहीं हुई। बता दें कि कैदी जिस जेल में कैद है उस जेल में कई खतरनाक कैदी भी बंद है। ऐसे में जेल की किसी भी तरह की जानकारी लीक होना खतरनाक साबित हो सकता है।

यह भी पढ़ें: 15 अगस्त स्पेशल : वीर क्रांतिकारियों ने जेल में ही रच दिया था इस जोशीले गीत को

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App