Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

AKTU छात्रों को जॉब देगी कोरियन कंपनी, बढ़ेंगे जॉब के मौके

By

Published on 5 Aug 2016 10:45 AM GMT

AKTU छात्रों को जॉब देगी कोरियन कंपनी, बढ़ेंगे जॉब के मौके
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : डॉ. अब्दुल कलाम टेक्निकल (एकेटीयू) आने वाले 2 महीनो में दो नए पोर्टल शुरू करने जा रही है। इसमें एक पोर्टल स्टूडेंट्स के लिए ग्रीवांस रिड्रसल पोर्टल होगा। वहीं दूसरा पोर्टल कॉलेजों के लिए होगा।

इसमें सभी कॉलेजो के इनोवेटिव काम या रिसर्च को इस पोर्टल पर अपलोड करेंगे। इसमें यूपी के सभी कॉलेजों के स्टूडेंट्स अपनी शिकायत दर्ज करा सकेंगे। यह सीधे वीसी की निगरानी में होगा।

ये भी पढ़ें... AKTU अपनी वेबसाइट पर नया पोर्टल करेगा शुरू, स्टूडेंट्स को मिलेगा लाभ

स्टूडेंट्स को मिलेगी 6 माह की ट्रनिंग

-एकेटीयू जल्द ही कोरिया की कंपनी से एमओयू करने जा रही है।

-इससे सभी कॉलेज एक दूसरे के कामों को देख सकेंगे।

-वीसी ने बताया कि हमने हर चीज में बेहतर कार्य किया है लेकिन रिजल्ट में हम पीछे रह गए है। हालांकि अगले साल यह व्यवस्था बेहतर होगी और रिजल्ट समय से निकलेंगे।

-एकेटीयू के कॉलेजों के स्टूडेंट्स के लिए यह कंपनी एक फिनिशिंग स्कूल खोलेगी।

-इसमें स्टूडेंट्स को 6 माह की ट्रेनिंग दी जाएगी।

-इसके बाद कंपनी कोरिया में इन्हीं स्टूडेंट्स का प्लेसमेंट करेगी।

अगले साल एकेटीयू में होगा डिजिटल इवैल्युएशन

-गुरुवार को यह घोषणा एकेटीयू के वीसी प्रो. विनय पाठक का एक साल का कार्यकाल पूरा होने पर की गई।

-वीसी ने बताया कि इंडिया मार्ट कंपनी के साथ भी अनुबंध हुआ है, इसके तहत कंपनी पूल कैंपस में छात्रों के प्लेसमेंट करेगी।

-वीसी ने बताया कि अगले साल से एकेटीयू में डिजिटल इवैल्युएशन होगा।

-इस बार 16 लाख कॉपियों में से 9.5 लाख कॉपियां डिजिटल इवैल्युएशन से जांची गई थीं।

-इसमें शिक्षकों ने काफी सहयोग किया। अगले साल से यह पूरी तरह से लागू हो सकेगा।

-वहीं सभी कॉलेजों के बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट में एक यूनिवर्सिटी का नॉमिनी रखा जाएगा।

-अब एमटेक में अगर स्टूडेंट्स ने रिसर्च कॉपी किया होगा तो उसे रद्द कर दिया जाएगा।

-पीएचडी की तरह इसमें भी एंटी प्लैजरिज्म सॉफ्टवेयर लागू होगा।

Next Story