×

सुपर 30: आनंद कुमार ने लखनऊ में की 'चाय पे चर्चा', कहा- इस बार 30 की जगह चुनेंगे 60 बच्चे

aman

amanBy aman

Published on 19 Jun 2017 1:20 PM GMT

सुपर 30: आनंद कुमार ने लखनऊ में की चाय पे चर्चा, कहा- इस बार 30 की जगह चुनेंगे 60 बच्चे
X
सुपर 30: आनंद कुमार ने लखनऊ में की 'चाय पे चर्चा', कहा-
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: गरीब बच्चों के आईआईटी में पढ़ने का सपना पूरा करवाने वाले 'सुपर- 30' के संस्थापक आनंद कुमार सोमवार (19 जून) को राजधानी पहुंचे। यहां उन्होंने हज़रतगंज के लालबाग स्थित शर्मा टी स्टाल पर स्टूडेंट्स और पत्रकारों के साथ 'चाय पे चर्चा' की।

इस दौरान आनंद कुमार ने बताया कि इस बार उनकी कोचिंग में 30 की जगह 60 स्टूडेंट्स का चयन किया जाएगा। लेकिन कोचिंग का नाम आगे भी सुपर-30 की रहेगा, यह इसी नाम से जाना जाएगा।

24 जून को राजधानी में होगा एग्जाम

आनंद कुमार ने बताया, कि 24 जून को कोचिंग में स्टूडेंट्स के चयन के लिए एग्जाम लिया जाएगा। इस बार दो परीक्षाएं होंगी। पहली 10वीं पास छत्रों के लिए तो दूसरी 12वीं पास या अपीएरिंग स्टूडेंट्स के लिए होगी।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें पूरी खबर ...

यहां से ले सकते हैं फॉर्म

इस परीक्षा के लिए राजधानी के इंदिरा नगर सेक्टर- 14 स्थित स्कूल से 20 जून से 23 जून शाम 5 बजे तक फॉर्म लिया जा सकता है। फॉर्म की कीमत 70 रुपए रखी गई है। जिन स्टूडेंट्स के परिवार की मासिक आय 15,000 से नीचे है, उनके लिए मुफ्त में फॉर्म उपलब्ध होगा। इतना ही नहीं उनकी कोचिंग भी निःशुल्क रहेगी।

अब तक 396 स्टूडेंट्स को IIT भेज चुके हैं आनंद

आनंद कुमार ने बताया कि पिछले 15 सालों में उन्होंने 450 बच्चों को कोचिंग दी। इसमें से अब तक 396 बच्चों का चयन आईआईटी के लिए हो चुका है। इस बार हुए एग्जाम में सभी 30 बच्चे सफल रहे जिनमें एक यूपी का है।

बच्चों के सपने पूरा करना मकसद

आनंद यूपी के अलावा झारखंड में भी सुपर- 30 का प्रचार कर चुके हैं। इस बार यूपी सरकार से इनका कोई टाई अप नहीं है। इनका मकसद गरीब बच्चों को आईआईटी में पहुंचाकर उनके सपने पूरा करना है।

अक्टूबर में शुरु करेंगे ऑनलाइन ट्यूटोरियल

आनंद कुमार ने बताया कि अक्टूबर से ये अपनी वेबसाइट super30.org पर ऑनलाइन ट्यूटोरियल भी शुरू करेंगे और उनकी फीस 2 रुपए प्रति स्टुडेंट रखेंगे। इनका मानना है कि इससे होने वाली आय से ये सिलेक्टेड स्टूडेंट्स की पढाई का खर्चा निकाल सकेंगे।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story