मेहनत करने के लिए तैयार हैं तो आपको भी मिल सकता है प्रमोशन

Published by raghvendra Published: March 16, 2018 | 3:39 pm
Modified: March 16, 2018 | 3:49 pm

अप्रैल का महीना आने वाला है। यह महीना अधिकतर कंपनियों में अप्रेजल का होता है। इसी समय आपको सैलरी और प्रमोशन दोनों का लाभ मिलता है। अगर आप प्रमोशन चाहते हैं तो कंपनी की निगाह में आपकी छवि काम करने वाले व्यक्ति की बनेगी। कंपनी आपको ज्यादा से ज्यादा काम देगी। अगर आप मेहनत करने के लिए तैयार हैं तो आपको प्रमोशन भी मिल सकता है।

आपको बॉस के अंदर अपने प्रति विश्वास पैदा करना होगा ताकि वह आपको निर्णय लेने की छूट दे सकें। आपको अपने बॉस को बताना होगा कि किसी निर्णय में गलती होने पर आप किस तरह सुधार करेंगे। आपको बताना होगा कि आपके निर्णय लेने से कंपनी का क्या फायदा हो सकता है। जब आप अपनी नई जिम्मेदारियों पर खरा उतरेंगे तो प्रमोशन का आपका मामला भी सॉलिड हो जाएगा। जिम्मेदारियों को बखूबी निभाने वाले व्यक्ति को कंपनी हमेशा आगे बढ़ाने की कोशिश करती है। जानते हैं कि कैसे आप आप अपना प्रमोशन करवा सकते हैं।

  • हमेशा एक्टिव रहें

ऑफिस में बॉस से लेकर हर कोई उस व्यक्ति को पसंद करता है, जो ऊर्जावान रहता है और एक्टिव होकर सारा काम करता है। एम्प्लॉयर भी ऊर्जावान व्यक्ति को ही प्रमोशन देना चाहता है। आपको वर्कप्लेस पर हर तरह के व्यक्ति मिलेंगे। कुछ लोग बेवजह निन्दा करेंगे। ऐसे लोगों से घबराने की बजाय आशावादी रहें। बॉस से बेफिक्र होकर नए प्रोजेक्ट्स के बारे में बात करनी चाहिए। इससे आप अपने बॉस की नजर में रहेंगे। इसका सीधा असर आपके प्रमोशन और अप्रेजल पर दिखाता है।

  • अच्छे लोगों के साथ रहें

कंपनी में आप ऐसे लोगों का चुनाव करें, जिनके साथ आप समय गुजारेंगे। ऐसे पांच लोगों की लिस्ट बनाएं, जिनके साथ आप ऑफिस में सबसे ज्यादा वक्त गुजारते हैं। आपकी परफॉर्मेंस इन पांच लोगों की औसत होगी। इसलिए सही लोगों के साथ समय गुजारें। गॉसिप करने वाले और नॉन-परफॉर्मर्स के साथ न रहें। गलत लोगों से बचकर रहें। गलत लोगों के साथ रहने से आपको नुकसान हो सकता है।

  • टाइम बाउंड प्लानिंग करें

पता करें कि कौन सी एक्टिविटीज वर्कप्लेस पर आपको सबसे ज्यादा प्रभावशाली बनाती हैं। आपके कार्यों के प्रभाव को किस तरह से आंका जाता है और आपको उसका क्या फायदा मिल सकता है। आपको पता करना चाहिए कि सप्ताह, महीने और साल में आप किन लक्ष्यों को पूरा करना चाहते हैं। इसके लिए आपको टाइम बाउंड प्लानिंग करनी चाहिए। आपको जानकारी करनी चाहिए कि आपको अपने लक्ष्य हासिल करने के लिए किन संसाधनों की जरूरत होगी और इसमें कितना समय लगेगा। इसी हिसाब से आप अपने प्लान को तैयार कर सकते हैं।

  • मैनेजमेंट भी सीखें

हर काम का संतुलन और उसे करने के तरीके आपको आने चाहिए। जैसे आप सीढिय़ों पर चढ़ते हैं तो आपको अपने पैरों के साथ-साथ सीढ़ी का भी संतुलन बनाए रखना पड़ता है। इसी तरह प्रमोशन पाने के लिए जरूरी है कि आप खुद को रिपोॄटग करने वाली टीम को तो मैनेज करें ही, साथ ही आपको अपने से ऊपर बैठे लोगों को मैनेज करने की कला आनी चाहिए। इससे आपको जरूर सफलता मिलेगी।

  • सही तरीके से बात रखें

जब आपना बायोडाटा तैयार करते हैं तो उसमें लिखी बातों को कंपनी में दिखाना होता है। अब क्या आप अपने सालाना लक्ष्य प्राप्त करने के लिए ऐसा कर रहे हैं? टीम को अपना प्लान बताएं, अपने मैनेजर को प्रेजेंटेशन दें और अपने टारगेट के लिए संसाधन प्राप्त करें। अगर आप कोई लक्ष्य हासिल करते हैं तो बॉस को अचीवमेंट्स के बारे में पूरी जानकारी दें। बॉस को बताएं कि आप कैसे उनके व कंपनी के लक्ष्य प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं। अगर बॉस को लगेगा कि आपकी बात में दम है तो जरूर ही वो अपने साथ रखने के लिए प्रयास करेगा।

  • इनकार करना सीखें

हर व्यक्ति के कॅरियर में सबसे सीमित संसाधन और समय होता है। इसी में आपको अधिक से अधिक काम करना होता है। इसलिए टाइम मैनेजमेंट के लिए जरूरी है कि आप ना कहना सीखें। अगर कोई काम आपके लक्ष्य पूरा करने में मदद नहीं करता है तो आप उस काम के लिए मना कर सकते हैं। अगर किसी काम को करने से पूरे दिन का शेड्यूल खराब होता है तो आप उस काम के लिए मना कर सकते हैं, लेकिन यह बात ध्यान रखें कि इनकार इस तरह करें कि सामने वाले को बुरा भी नहीं लगे और आपका काम हो जाए।

  • कंपनी के बारे में रखें जानकारी

कुछ लोग प्रमोशन आदि के बारे में जानकारी करते हैं और इस संबंध में काफी उत्सुक होते हैं, लेकिन उन्हें कंपनी के बारे में जानकारी नहीं होती है। आपको कंपनी में चल रही हर चीज के बारे में उत्सुक होना चाहिए। विचार करना चाहिए कि हर इवेंट और एक्टिविटी का कंपनी के लिए क्या महत्व है। आपको कंपनी के मालिक की तरह व्यवहार करना चाहिए। हर चीज जो कंपनी के रेवन्यू पर असर डालती है, उस पर विचार करें। कम्युनिकेशन स्टाइल में एंटरप्रेन्योर की तरह सक्सेस पर फोकस होना चाहिए। आपके कार्य कंपनी की सोच के अनुरूप होने चाहिए।

  • कमजोरियों को बनाएं मजबूती

क्या आप अपने आउटपुट पर आलोचना झेलते हैं? अगर ऐसा नहीं है तो आपको प्रमोशन मिलने के चांस कम हैं। जिस काम में सुधार और विकास की गुंजाइश नहीं होती, वहां पर तरक्की संभव नहीं है। अगर आपका बॉस आपकी आलोचना नहीं कर रहा है तो इसका मतलब है कि उसके लिए आपका महत्व नहीं रह गया है। अगर आपकी टीम आपको आपकी कमजोरियां नहीं बताती है तो इसका कारण हो सकता है कि आप डिफेंसिव हों या कोई भी आपको फीडबैक देना नहीं चाहता हो।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App