Top

बिहार बोर्ड में बड़ा बदलाव: अब OMR शीट पर होगी 10वीं और 12वीं की परीक्षा

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बिहार बोर्ड) ने अपनी 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं के पैटर्न में बड़ा बदलाव किया है। ये बदलाव आगामी सेंट-अप परीक्षा से चालू कर दिए जाएंगे। अब 10वीं और 12वीं के 50 प्रतिशत प्रश्न ऑब्जेक्टिव होंगे।बाकि बचे प्रश्न 2 और 5 नंबर के होंगे।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 30 Oct 2017 3:58 PM GMT

बिहार बोर्ड में बड़ा बदलाव: अब OMR शीट पर होगी 10वीं और 12वीं की परीक्षा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बिहार बोर्ड) ने अपनी 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं के पैटर्न में बड़ा बदलाव किया है। ये बदलाव आगामी सेंट-अप परीक्षा से चालू कर दिए जाएंगे। अब 10वीं और 12वीं के 50 प्रतिशत प्रश्न ऑब्जेक्टिव होंगे।बाकि बचे प्रश्न 2 और 5 नंबर के होंगे।

बिहार बोर्ड के अध्‍यक्ष आनंद किशोर ने कहा कि परीक्षा के पैटर्न में बदलाव का देखते हुए बोर्ड मॉडल प्रश्‍न पत्र जारी कर दिया जाएगा। बोर्ड आगामी 7 नवंबर को इंटर तथा 15 नवंबर को मैट्रिक का मॉडल प्रश्‍न पत्र जारी कर देगा।

ये भी पढ़ें... CBSE Scholarship 2017: 10वीं पास छात्राओं के लिए नोटिफिकेशन, नवंबर तक करें आवेदन

पहले हफ्ते में मिलेगी जानकारी

आनंद किशोर ने कहा कि मैट्रिक के अाधे प्रश्‍न ऑब्जेक्टिव होंगे, जिनके जवाब ओएमआर शीट पर देने होंगे। शेष प्रश्न दो अंक वाले लघुउत्तरीय और 5 अंक वाले दीर्घउत्तरीय होंगे। लघु और दीर्घ उत्तरीय प्रश्नों की संख्या कितनी होगी इसकी जानकारी बोर्ड की वेबसाइट पर नवंबर के पहले हफ्ते में मिल जाएगी।

भाषा विषयों में दीर्घउत्तरीय प्रश्नों के अंक 5 से अधिक हो सकते हैं। निबंध जैसे प्रश्नों के अंक 5 से अधिक होंगे। साइंस और गणित में 1, 2 और 5 अंक के ही प्रश्न होंगे।

ये भी पढ़ें... NCERT बुक्स से होगी यूपी के मदरसों में पढ़ाई, योगी सरकार ने दी मंजूरी

क्या है कारण

बोर्ड अध्‍यक्ष के मुताबिक उम्मीदवार को अधिक अंक प्राप्त हों इस वजह से प्रश्नपत्र के पैटर्न में बदलाव किया जा रहा है। कुल लघुउत्तरीय प्रश्नों की संख्या हल किए जाने वाले प्रश्नों से 50 प्रतिशत अधिक होगी। जैसे- किसी विषय में 10 लघुउत्तरीय प्रश्नों का जवाब देना है तो प्रश्नपत्र में 15 प्रश्न होंगे। सभी दीर्घउत्तरीय प्रश्नों के दो ऑप्शन होंगे। इसमें किसी एक का जवाब कैंडिडेट्स को देना होगा।

साइंस के पेपर में ऑब्जेक्टिव, लघु और दीर्घ, तीनों स्तर में न्यूमेरिकल प्रश्नों की संख्या बढ़ाई जाएगी। इससे अभ्यर्थियों को अधिक अंक प्राप्त करने में आसानी होगी।

ये भी पढ़ें.. CBSE ने मिनिस्ट्री से की सिफारिश, अब साल में एक बार हो UGC NET EXAM

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story