×

AKTU ताइवान में करा रहा सेमेस्टर एग्जाम, अगले साल बढ़ेंगी छात्रों की संख्या

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (AKTU) प्रशासन व्यवस्थाओं और तकनीकी शिक्षा में सुधार के लिए लगातार प्रयोग कर रही है। यूनिवर्सिटी प्रशासन की तरफ से एक और नया प्रयोग किया है। एकेटीयू प्रशासन यूपी के 134 केंद्रों के साथ-साथ ताइवान में भी एक सेंटर पर बीटेक की एक छात्रा का सेमेस्टर एगजाम्स करा रहा है।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 19 May 2017 12:03 PM GMT

AKTU ताइवान में करा रहा सेमेस्टर एग्जाम, अगले साल बढ़ेंगी छात्रों की संख्या
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (AKTU) प्रशासन व्यवस्थाओं और तकनीकी शिक्षा में सुधार के लिए लगातार प्रयोग कर रही है। यूनिवर्सिटी प्रशासन की तरफ से एक और नया प्रयोग किया है। एकेटीयू प्रशासन यूपी के 134 केंद्रों के साथ-साथ ताइवान में भी एक सेंटर पर बीटेक की एक छात्रा का सेमेस्टर एगजाम्स करा रहा है।

नेशनल चिआओ तुंग यूनिवर्सिटी, ताइवान के साथ हुए अनुबंध के बाद एकेटीयू से संबद्ध कॉलेज गलगोटिया कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, ग्रेटर नोएडा की छात्रा शिफी सिंह ताइवान में 6 महीने की इंटर्नशिप कर रही है। इंटर्नशिप जनवरी से शुरू हुई, जो जून मध्य तक चलेगी। शिफि बीटेक लास्ट ईयर की छात्रा है। यूनिवर्सिटी के सेमेस्टर एग्जाम्स 12 मई से शुरू हुए हैं। एकेटीयू उक्त छात्रा का पेपर ताइवान में करा रहा है।

क्या कहा परीक्षा नियंत्रक ने?

परीक्षा नियंत्रक प्रो. जेपी पांडेय का कहना है कि जिस दिन छात्रा का पेपर होता है, उस दिन परीक्षा के निर्धारित समय से थोड़ा पहले ताइवान की उक्त यूनिवर्सिटी स्थित केंद्र को ऑनलाइन पेपर-कॉपी भेजी जाती है। वह इसका प्रिंट लेकर छात्रा को देते हैं। छात्रा की परीक्षा के लिए वहां के हेड ऑफ डिपार्टमेंट को सेंटर सुपरीटेंडेंट बनाया गया है। उनके द्वारा तीन शिक्षकों का पैनल बनाया गया है।

अधिक जानकारी के लिए आगे की स्लाइड्स में जाएं...

शिक्षकों और सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में परीक्षा

छात्रा इन शिक्षकों और सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में परीक्षा देती है। ताइवान की यूनिवर्सिटी पेपर खत्म होने के बाद उसी दिन इसकी क्लिपिंग और परीक्षा की कॉपी ऑनलाइन यूनिवर्सिटी को भेजती है।

अगले साल और बढ़ेगी स्टूडेंट्स की संख्या

छात्रा के अब तक दो पेपर हो चुके हैं। विवि के डीन स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. मनीष गौड़ ने बताया कि इंटरप्रन्योरशिप एंड इंडस्ट्रियल प्रोजेक्ट के तहत हम अपने छात्रों को विदेश में इस तरह की इंटर्नशिप के लिए भेजते हैं। इस बार शुरुआत थी, यह प्रयोग सफल रहा है। अगले साल इंटर्नशिप के तहत जाने वाले स्टूडेंट्स की संख्या और बढ़ेगी। इंटर्नशिप के लिए प्रवेश परीक्षा होती है।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story