×

BTech in Hindi : स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी, अब हिंदी में होगी इंजीनियरिंग की पढ़ाई

IIT-BHU अब इंजीनियरिंग की पढ़ाई हिंदी में करवाने जा रहा है...

Network
Published on 2 Sep 2021 9:56 AM GMT
BTech in Hindi
X

अब हिंदी में होगी इंजीनियरिंग की पढ़ाई (social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

BTech in Hindi: हिंदी माध्यम से पढ़े स्टूडेंट्स को इंजीनियरिंग की पढ़ाई अंग्रेजी में करना काफी मुश्किल भरा होता है। उनके मन में हमेशा यही सवाल आता है की इंजीनियरिंग की पढ़ाई हिंदी में क्यों नहीं होती? तो ऐसे स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी है। IIT-BHU देश का पहला ऐसा इंजीनियरिंग कॉलेज होने जा रहा है, जो B.Tech की पढ़ाई अब हिंदी में कराने जा रहा है। इसकी जानकारी राजभाषा समिति के अध्यक्ष प्रोफेसर प्रमोद कुमार जैन ने दी है।

IIT(BHU) हिंदी में कराएगा कोर्स

प्रोफेसर ने बताया की नई शिक्षा नीति में शिक्षा का माध्यम हिन्दी यानी मातृभाषा में होनी चाहिए। इसकी शुरुआत IIT(BHU) करने जा रहा है। स्टूडेंट्स यहां पर हिंदी में इंजीनियरिंग कर सकते हैं। उन्होंने आगे कहा है कि मातृभाषा में पढ़ाई को बढ़ावा दिया जाना उद्देश्‍य है। साथ ही उन्होंने हिन्दी में कार्य करने के लिए सहकर्मियों को बधाई दी। साथ ही उन्होंने उनसे कक्षाओं, विभागों और कार्यालयों में हिन्दी में ज्यादा से ज्यादा कार्य करने की अपील की। इसके अलावा संस्थान की राजभाषा कार्यान्वयन समिति के उपाध्यक्ष आचार्य अनिल कुमार त्रिपाठी ने भी हिंदी में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने को लेकर प्रकाश डाला। साथ ही उन्होंने हिंदी पखवाड़े के महत्त्व के बारे में बताया। कुलसचिव राजन श्रीवास्तव ने वर्ष 2020-21 में संस्थान में हिन्दी में किये गए कार्यों और उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी।

कोरोना के कारण योजना रुकी

बता दें कि पिछले साल भी शिक्षा मंत्रालय की ओर से IIT की पढ़ाई हिंदी भाषा में कराने पर विचार हुआ था, लेकिन कोरोना काल के चलते यह योजना बीच में ही रुक गई। अब घटते संक्रमण को देखते हुए एक बार फिर से अब इस पर संस्थान ने सहमति दे दी है, जिसके बाद IIT-BHU जल्‍द नया BTech कोर्स इन हिंदी लांच कर देगा। कोरोना संक्रमण का सबसे अधिक प्रभाव शिक्षा नीति में पड़ी है। बच्चों की पढ़ाई पर भी इसका सबसे ज्यादा असर हुआ है।

Ragini Sinha

Ragini Sinha

Next Story