×

CBSE की चेतावनी: स्कूल कैंपस में किताबें और यूनिफॉर्म न बेचें, रद्द हो सकती है मान्यता

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंड्री एजुकेशन (CBSE) ने उससे संबद्ध स्कूलों को चेतावनी दी है। बोर्ड ने मान्यता प्राप्त स्कूलों से कहा है कि वे स्कूल परिसर में किताबें, यूनिफॉर्म और स्टेशनरी की अन्य चीजों को न बेचें।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 21 April 2017 1:50 PM GMT

CBSE की चेतावनी: स्कूल कैंपस में किताबें और यूनिफॉर्म न बेचें, रद्द हो सकती है मान्यता
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंड्री एजुकेशन (CBSE) ने उससे संबद्ध स्कूलों को चेतावनी दी है। बोर्ड ने मान्यता प्राप्त स्कूलों से कहा है कि वे स्कूल परिसर में किताबें, यूनिफॉर्म और स्टेशनरी की अन्य चीजों को न बेचें।

सीबीएसई ने स्कूलों को एनसीईआरटी की किताबों का ही इस्तेमाल करने को कहा है। बाजार में एनसीईआरटी बुक्स की कमी है। इस पर सीबीएसई ने कहा है कि स्कूलों ने एनसीईआरटी की किताबों के लिए ऑनलाइन डिमांड भेजी थी। इसके बाद 2000 से ज्यादा स्कूलों को ये किताबें भेजी गई हैं।

स्कूलों की मान्यता हो सकती है रद्द

सीबीएसई के अनुसार, ऐसा करना नियमों का उल्लंघन है। स्कूल किसी चयनित विक्रेता से कॉपी-किताबें खरीदने के लिए भी बच्चों पर दवाब न बनाए। स्कूल परिसर से ही किताबें, यूनिफॉर्म, स्टेशनरी आदि खरीदने का दबाव बनाने वाले स्कूलों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन स्कूलों की मान्यता भी रद्द की जा सकती है।

बोर्ड ने जताई आपत्ती

-गौरतलब है कि स्कूलों की इस मनमानी के चलते सीबीएससी को पेरेंट्स से लगातार शिकायतें मिल रही थीं।

-सीबीएसई मान्यता वाले स्कूल व्यावसायिक गतिविधियों में लिप्त हैं।

-ऐसे स्कूल अपने परिसर में ही किताबें, यूनिफॉर्म और स्टेशनरी बेच रहे हैं।

-इसके अलावा बच्चों और पेरेंट्स पर स्कूल परिसर से ही बुक्स और यूनिफॉर्म खरीदने के लिए बाध्य किया जा रहा है।

-जिस वजह से सीबीएसई ने आपत्ति जताते हुए ये निर्देश जारी किए है।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story