×

MPPSC Exam में कश्मीर पर पूछा ये विवादित सवाल, आयोग ने पेपर सेट करने वाले पर लिया सख्त एक्शन

सवाल था कि 'क्या भारत को कश्मीर, पाकिस्तान को देने का निर्णय लेना चाहिए? परीक्षार्थियों को इस प्रश्न का जवाब देने के लिए तर्क भी दिए गए। जिसके बाद बवाल मच गया।

aman
Updated on: 21 Jun 2022 7:07 AM GMT
mppsc exam controversial question asked on kashmir commission in action
X

प्रतीकात्मक चित्र 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

MPPSC Exam Controversial Question : मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग (Madhya Pradesh Public Service Commission) ने हाल ही में में राज्य सेवा एवं वन सेवा प्रारंभिक परीक्षा आयोजित करवाई थी। इस परीक्षा में पूछे गए एक सवाल पर अब विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल, यह विवादित सवाल कश्मीर से जुड़ा था। राज्य सेवा एवं वन सेवा प्रारंभिक परीक्षा परीक्षा के सेट A, B, C और D में कश्मीर पर बयान तथा तर्क आधारित प्रश्न पूछा गया था।

सवाल था कि 'क्या भारत को कश्मीर, पाकिस्तान को देने का निर्णय लेना चाहिए? परीक्षार्थियों को इस प्रश्न का जवाब देने के लिए तर्क भी दिए गए। जिसके बाद बवाल मच गया। ज्ञात हो कि ये परीक्षा रविवार को आयोजित की गई थी।

सवाल : 'क्या भारत को कश्मीर, पाकिस्तान को देने का निर्णय लेना चाहिए?

तर्क 1 : हां, इससे भारत का धन बचेगा।

तर्क 2 : नहीं, ऐसे निर्णय से इसी तरह की और भी मांगें बढ़ जाएंगी।

(A) - तर्क 1 मजबूत है।

(B) - तर्क 2 मजबूत है।

(C) - तर्क 1 और तर्क 2 दोनों मजबूत हैं।

(D) - तर्क 1 और 2 दोनों ही मजबूत नहीं हैं।


प्रश्नपत्र सेट करने वाले को नोटिस

इस विवादास्पद सवाल के वायरल होने के बाद बवाल मच गया है। अब विवाद को बढ़ता देख मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग ने प्रश्न पत्र सेट करने वाले को नोटिस भेजा है। साथ ही, MPPSC के सभी कार्यों को करने से रोक लगा दी है।

आयोग ने नोटिस में किया सख्त लहजे का इस्तेमाल

इतना ही नहीं, मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग ने प्रश्न पत्र तैयार करने वाले को नोटिस जारी करते हुए लिखा है, कि इस सवाल के अवलोकन के बाद संज्ञान में आया है कि प्रश्न विवादास्पद है। साथ ही, सवाल तैयार करने के दौरान दिशा-निर्देशों (Guidelines) का पालन नहीं किया गया। इसे कदाचरण की श्रेणी में मान कर आपको आयोग द्वारा भविष्य के लिए आयोग के सभी कार्यों से अलग किया जाता है।

aman

aman

Next Story